Home /News /nation /

Cyclone Jawad पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की बैठक, लिया हालात का जायजा

Cyclone Jawad पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की बैठक, लिया हालात का जायजा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात के मद्देनजर समीक्षा बैठक की (तस्वीर- ANI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात के मद्देनजर समीक्षा बैठक की (तस्वीर- ANI)

Cyclone Jawad News: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने देश में चक्रवात से संबंधित स्थिति पर एक बैठक की अध्यक्षता की. इस दौरान प्रधानमंत्री मौजूदा हालात, तैयारियों और प्रभावित राज्यों के साथ समन्वय की जानकारी दी गई.

    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने देश में चक्रवात से संबंधित स्थिति पर एक बैठक की अध्यक्षता की. इस दौरान प्रधानमंत्री मौजूदा हालात, तैयारियों और प्रभावित राज्यों के साथ समन्वय की जानकारी दी गई. उधर पश्चिम बंगाल में Cyclone Jawad के मद्देनजर राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) ने  8 टीमों को तैनात किया है. आज रात तक 8 और टीमों को तैनात किया जाना है. डीजी एनडीआरएफ  अतुल करवाल ने कहा कि हमने IMD के अनुसार अगले 3 दिनों के लिए मौसम के बारे में पीएम जानकारी दी है.हमने गृह सचिव को सभी व्यवस्थाओं की जानकारी दी. हमने आज प्रभावित क्षेत्रों में 62 में से 29 टीमों को तैनात किया है. साथ में रिजर्व  टीमें है. हवा की गति 90-100 किमी प्रति घंटे रहने की उम्मीद.

    इससे पहले कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता वाली राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (NCMC) ने बुधवार को बंगाल की खाड़ी में आसन्न चक्रवात से निपटने के लिए तैयारियों की समीक्षा के लिए बैठक की, जिसके आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल को प्रभावित करने की आशंका है. देश के शीर्ष नौकरशाह ने विभिन्न केंद्रीय और राज्य एजेंसियों को ‘किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान से बचने और संपत्ति, बुनियादी ढांचे और फसलों को कम से कम नुकसान पहुंचने देने’ का निर्देश दिया.

    यह भी पढ़ें: Cyclone Jawad: किसने दिया है नए चक्रवाती तूफान जवाद को नाम, जानें- कैसे रखे जाते हैं तूफानों के नाम

    मछुआरों और समुद्र में सभी नौकाओं को तुरंत वापस बुला लें
    केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘कैबिनेट सचिव ने इस बात पर भी जोर दिया कि राज्य सरकारों को यह सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास करने चाहिए कि मछुआरों और समुद्र में सभी नौकाओं को तुरंत वापस बुला लिया जाए और चक्रवाती तूफान से प्रभावित क्षेत्रों से लोगों को जल्द से जल्द निकाला जाए.’

    भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के महानिदेशक ने NCMC को बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव वाले क्षेत्र की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी दी, जिसके तीन दिसंबर तक एक चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है. बयान में कहा गया है, ‘इसके चार दिसंबर की सुबह तक आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटों को पार करने की उम्मीद है, जिसमें हवा की गति 90 किलोमीटर प्रति घंटे से 100 किलोमीटर प्रति घंटे के साथ होगी, साथ ही भारी वर्षा होने की भी आशंका है.’

    बयान में कहा गया है, ‘चक्रवाती तूफान के आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम, विशाखापत्तनम और विजयनगरम और ओडिशा के तटीय जिलों को प्रभावित करने की आशंका है. इसके साथ ही तटीय क्षेत्रों और पश्चिम बंगाल के भागों में भारी से बहुत भारी वर्षा होने की आशंका है.’ बैठक में बताया गया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने इन राज्यों में 32 टीमों को तैनात किया है और अतिरिक्त टीमों को तैयार रखा जा रहा है. थल सेना और नौसेना के बचाव दल जहाजों और विमानों के साथ जरूरत पड़ने पर तैनाती के लिए तैयार हैं. गौबा ने ‘राज्य सरकारों को आश्वासन दिया कि सभी केंद्रीय एजेंसियां ​​तैयार हैं और सहायता के लिए उपलब्ध होंगी.’

    Tags: Cyclone Jawad, Narendra modi, Odisha, West bengal

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर