Assembly Banner 2021

PM मोदी ने जशोरेश्वरी मंदिर में की पूजा, मां काली को चढ़ाया खास मुकुट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार की सुबह सत्खिरा स्थित प्राचीन जेशोरेश्वरी काली मंदिर में पूजा अर्चना की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार की सुबह सत्खिरा स्थित प्राचीन जेशोरेश्वरी काली मंदिर में पूजा अर्चना की.

मंदिर परिसर में पहुंचने पर प्रधानमंत्री का स्वागत शंख बजाकर, तिलक लगाकर और अन्य पारंपरिक तरीकों से किया गया. इसके बाद प्रधानमंत्री ने विधि-विधान से मां काली की पूजा अर्चना की. पूजा अर्चना के बाद पीएम मोदी ने पूरी मानव जाति के कल्याण की कामना की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2021, 12:26 PM IST
  • Share this:
ढाका. बांग्‍लादेश (Bangladesh) दौरे के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने शनिवार की सुबह सत्खिरा (Satkhira) स्थित प्राचीन जेशोरेश्वरी काली मंदिर में पूजा अर्चना की. ये मंदिर मां दुर्गा की 51 शक्तिपीठों में से एक है. मां काली के दर्शन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने एक मुकुट भी चढ़ाया. इस चांदी के मुकुट को विशेष तौर पर तीन सप्‍ताह की कड़ी मेहनत के बाद तैयार किया गया है. इस मुकुट पर सोने का पानी चढ़ाया गया है

मंदिर में दर्शन करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मैंने सुना है कि जब यहां पर मां काली की पूजा का मेला लगता है कि बड़ी संख्‍या में भक्‍त सीमा के उस पार से भी यहां पर आते हैं. यहां पर एक कम्‍यूनिटी हॉल बनाए जाने की आवश्‍यकता है. पीएम मोदी ने कहा कि ये बहुउद्देशीय हॉल हो ताकि जब काली पूजा के लिए लोग आएं तो उनके भी यह हॉल उपयोग में आए. यही नहीं कभी आपदा के समय खासकर चक्रवात के समय ये कम्युनिटी हॉल सबके लिए शेल्टर का स्थान बन जाए.

Bangladesh, Prime Minister Narendra Modi, Temple, Satkhira



बता दें कि मंदिर परिसर में पहुंचने पर प्रधानमंत्री का स्वागत शंख बजाकर, तिलक लगाकर और अन्य पारंपरिक तरीकों से किया गया. इसके बाद प्रधानमंत्री ने विधि-विधान से मां काली की पूजा अर्चना की. पूजा अर्चना के बाद पीएम मोदी ने पूरी मानव जाति के कल्याण की कामना की. उन्होंने कहा, आज मुझे 51 शक्तिपीठों में से एक मां काली के चरणों में आने का सौभाग्य मिला. मेरी कोशिश रहती है कि मौका मिले तो 51 शक्तिपीठों में कभी ना कभी जाकर अपना मत्था टेकूं.
इसे भी पढ़े :- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद बोले शाकिब अल हसन, यह दौरा बेहतर साबित होगा

पूरी मानव जाति के कल्‍याण की प्रार्थना की
मोदी ने कहा कि साल 2015 में जब मैं बांग्लादेश आया था तो उमां ढाकेश्वरी के चरणों में शीश झुकाने का अवसर मिला था और आज मां काली के चरणों में आशीर्वाद प्राप्त करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है. उन्होंने कहा, आज मानव जाति कोरोना के कारण अनेक संकटों से गुजर रही है, मां से यही प्रार्थना है कि पूरी मानव जाति को कोरोना के इस संकट से जल्द से जल्द मुक्ति दिलाएं. प्रधानमंत्री ने सर्वे भवंतु सुखिन: के मंत्र का उल्लेख किया और वसुधैव कुटुम्बकम को भारतीय संस्कृति की विरासत बताते हुए कहा, हम पूरी मानव जाति के कल्याण के लिए प्रार्थना करते हैं.

इसे भी पढ़े :- PM मोदी ने शहीद स्मारक पर दी श्रद्धांजलि, भारतीय समुदाय से की मुलाकात

जेशोरेश्वरी काली मंदिर मां दुर्गा के 51 शक्तिपीठों में शामिल
जेशोरेश्वरी काली मंदिर मां दुर्गा के 51 शक्तिपीठों में शामिल है. जेशोरेश्वरी का मतलब जेशोर की देवी से है. बांग्‍लादेश में इस मंदिर का विशेष महत्‍व है. हर साल बांग्लादेश और भारत से हजारों की संख्या में हिंदू श्रद्धालु माता के दर्शन के लिए यहां पर आते हैं. कहते हैं कि इस स्थान पर मंदिर का निर्माण एक ब्राह्मण ने किया था.

(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज