राम मंदिर पर बोले PM मोदी- सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ही अध्यादेश लाने पर करेंगे विचार

News18Hindi
Updated: January 1, 2019, 7:26 PM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि न्यायिक प्रक्रिया को धीमी गति से चल रही है, क्योंकि कांग्रेस के वकील सुप्रीम कोर्ट में 'बाधाएं' पैदा कर रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 1, 2019, 7:26 PM IST
  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को साफ कर दिया कि राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने पर कोई भी फैसला न्यायिक प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही लिया जाएगा.

समाचार एजेंसी एएनआई को दिए एक इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि न्यायिक प्रक्रिया को धीमी गति से चल रही है, क्योंकि कांग्रेस के वकील सुप्रीम कोर्ट में 'बाधाएं' पैदा कर रहे थे.

राम मंदिर का मुद्दा भाजपा के लिए अब भी एक भावनात्मक मुद्दा है यह पूछे जाने पर पीएम ने कहा, 'हमने अपने भाजपा के घोषणा पत्र में कहा है कि राम मंदिर का हल संविधैनिक तरीके से किया जाएगा.'

बता दें कि बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के घोषणापत्र में कहा था कि वह अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण चाहती है. बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में स्पष्ट किया है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाना चाहिए. हाल ही में मंदिर निर्माण की प्रक्रिया को तेज करने के लिए पार्टी के सहयोगी संगठन और संघ परिवार द्वारा नए सिरे से यह मांग उठाई गई है. संघ के अलावा शिवसेना ने भी इसपर अध्यादेश लाकर जल्द राम मंदिर निर्माण कराए जाने की मांग की थी.



संघ परिवार के संगठन मामले में हो रही देरी की वजह से नाखुश हैं और उन्होंने ट्रिपल तालक पर जारी किए गए अध्यादेश की तरह मंदिर के निर्माण मामले पर भी एक अध्यादेश लाने की मांग की है.

राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने के मामले पर प्रधानमंत्री ने कहा, 'न्यायिक प्रक्रिया पूरी होने दें, इसके बाद सरकार के रूप में जो भी हमारी जिम्मेदारी होगी, हम उसे पूरा करने के सभी प्रयास करेंगे.'
Loading...

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि न्यायिक प्रक्रिया को पूरा होने दें, इसमें 'रुकावटें पैदा न करें' और न ही इसे राजनीतिक मुद्दा बनाएं. पीएम ने कहा, 'मैं राष्ट्रीय शांति के लिए कांग्रेस से निवेदन करता हूं कि अदालत में इस (अयोध्या) मसले पर बाधा डालने वाले अपने वकीलों को रोकें और न्यायिक प्रक्रिया को पूरा होने दें.'

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के लोगों सहित सभी वकीलों को संयुक्त रूप से अदालत में जाना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि जल्द ही न्यायिक प्रक्रिया पूरी हो.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 1, 2019, 5:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...