Assembly Banner 2021

चुनाव आयोग का स्वास्थ्य मंत्रालय को आदेश - चुनावी राज्यों में वैक्सीन सर्टिफिकेट से हटाएं पीएम मोदी की तस्वीर

कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र से हटेगी PM मोदी की तस्‍वीर.

कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र से हटेगी PM मोदी की तस्‍वीर.

तृणमूल कांग्रेस (TMC)ने चुनाव आयोग (Election Commission) से शिकायत की थी कि कोविड-19 टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) प्रमाणपत्र पर पीएम मोदी (Narendra Modi)की तस्वीर होना चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. तृणमूल कांग्रेस (TMC) की शिकायत पर चुनाव आयोग (Election Commission) ने स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय से कोविड-19 टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) प्रमाणपत्र से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की फोटो हटाने को कहा है. टीएमसी ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी कि कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र पर पीएम मोदी की तस्वीर होना चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन हैं. इस पर निर्वाचन आयोग ने स्वास्थ्य मंत्रालय से कहा है कि वह चुनावी नियमों का अक्षरश: पालन करे. बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय को भेजे गए एक पत्र में चुनाव आयोग ने आचार संहिता के कुछ प्रावधानों का हवाला दिया है जो सरकारी खर्च पर विज्ञापन पर पांबदी लगाते हैं.

चुनाव आयोग और मंत्रालय के बीच हुए संवाद से वाकिफ सूत्रों ने बताया कि चुनाव आयोग ने किसी व्यक्ति या शख्सियत का हवाला नहीं दिया है, लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय से कहा है कि वह आचार संहिता के प्रावधानों का अक्षरश: पालन करे. सूत्रों के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्रालय को संभवत: अब फिल्टर का उपयोग करना पड़ेगा ताकि पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी (जहां-जहां चुनाव होने हैं) में कोविड-19 टीकाकरण के प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री की तस्वीर ना छपे. सिस्टम में इस फिल्टर को अपलोड करने में समय लगेगा.

इसे भी पढ़ें :- वैक्सीन सर्टिफिकेट पर छपी PM मोदी की फोटो पर बवाल, TMC ने EC से की शिकायत
पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने मंगलवार को चुनाव आयोग को दी गई शिकायत में आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल और अन्य चुनावी राज्यों में को-विन प्लेटफॉर्म के जरिए प्राप्त किए जाने वाले कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर होना आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है. पार्टी ने तस्वीर को प्रधानमंत्री द्वारा अधिकार का दुरुपयोग करार दिया है. पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनावों की घोषणा के बाद 26 फरवरी से आदर्श आचार संहिता प्रभावी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज