Monsoon Session 2020: मानसून सत्र से पहले बोले PM मोदी, सांसद जवानों के साथ एकजुट रहने का दें संदेश

Monsoon Session 2020: मानसून सत्र से पहले बोले PM मोदी, सांसद जवानों के साथ एकजुट रहने का दें संदेश
संसद सत्र शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने कोविड प्रोटोकॉल पर दिया जोर.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कहा, कोरोना (Corona) के चलते बजट सत्र (Budget Session) समय से पहले ही रोक देना पड़ा. इस सत्र में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए जाने हैं. कई तरह के विषयों पर चर्चा की जानी है, जितनी गहन चर्चा होगी उतना ही देश को लाभ भी मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 14, 2020, 10:21 AM IST
  • Share this:
Monsoon Session 2020: कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Epidemic) के बीच संसद का मानसून सत्र (Monsoon Session 2020) आज से शुरू हो गया है. मानसून सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने अपने संबोधन में चीन (China) के साथ चल रहे सीमा विवाद (China Border Dispute) पर संसद में संदेश दिया. उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि संसद में बैठे सभी सदस्य एकजुट होकर संदेश देंगे कि देश सेना के वीर जवानों के साथ एकजुट होकर खड़ा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा, आज हमारी सेना के वीर जवान सीमा पर डंटे हुए हैं. बुलंद हौसलों, बड़ी हिम्मत और जज्बे के साथ दुर्गम पहाड़ियों में हमारी रक्षा में तैनात हैं. कुछ समय बाद बर्फ वर्षा भी शुरू होगी. जिस विश्वास के साथ वे खड़े हैं, सदन के सभी सदस्य एक भाव से, एक संकल्प से ये संदेश देंगे कि देश के जवानों के पीछे पूरा देश खड़ा है. देश के बहादुर सैनिकों के साथ संसद और संसद के सभी सदस्य खड़े हैं. उन्होंने कहा कि मेरा विश्वास है कि यह मजबूत संदेश सभी माननीय सदस्य के माध्यम से ये सदन देगा.


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सदन में उपस्थित सभी सांसदों की लंबे समय के बाद मुलाकात हो रही है. सबका हालचाल पूछा है. इस बार विशेष वातावरण में संसद का सत्र बुलाया गया है. कोरोना भी है और कर्तव्य भी है. सभी को इसके लिए बधाई. संसद के कामकाज पर कोरोना के असर पर बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, कोरोना के चलते बजट सत्र समय से पहले ही रोक देना पड़ा. इस सत्र में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए जाने हैं. कई तरह के विषयों पर चर्चा की जानी है, जितनी गहन चर्चा होगी उतना ही देश को लाभ भी मिलेगा.



इसे भी पढ़ें :- राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी से लेकर उद्योगपति-पत्रकारों तक, इन सभी की निगरानी करा रहा चीन: रिपोर्ट

इस बार मानसून सत्र सिर्फ 18 दिन का होगा
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम सभी को कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना है. दुनिया में हर संकट से निकलने में कामयाब होने की क्षमता है. बता दें कि इस बार का मानसून सत्र सिर्फ 18 दिन का होगा और शनिवार और रविवार को भी सदनात्मक कार्यवाही जारी रहेगी. मानसून सत्र 14 सितंबर से 1 अक्टूबर तक चलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज