अपना शहर चुनें

States

PM मोदी आज 2020 के आखिरी रविवार को करेंगे 'मन की बात'

प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक भारत सरकार ने सब्जियों और फलों के ट्रांसपोर्टेशन पर 50 फीसदी सब्सिडी का ऐलान किया है. फाइल फोटो
प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक भारत सरकार ने सब्जियों और फलों के ट्रांसपोर्टेशन पर 50 फीसदी सब्सिडी का ऐलान किया है. फाइल फोटो

माना जा रहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) मन की बात कार्यक्रम के जरिए किसानों और नए कृषि कानून पर बात कर सकते हैं. 

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 27, 2020, 6:27 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कृषि कानून पर किसानों के प्रदर्शन और केंद्र सरकार के साथ बातचीत के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) दिसंबर 2020 के आखिरी रविवार को 11 रेडियो कार्यक्रम मन की बात के जरिए देश को संबोधित करेंगे. माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री किसानों के मुद्दे पर देश को संबोधित कर सकते हैं. रेडियो कार्यक्रम मन की बात इस साल का आखिरी प्रसारण होगा. बता दें कि कृषि कानूनों पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने इस दिन थाली और ताली बजाकर प्रदर्शन करने का ऐलान किया है. हालांकि सरकार के साथ बातचीत को वे तैयार हो गए हैं. ऐसे में देखना है कि उनका निर्णय क्या होता है. पिछले एक महीने से किसान दिल्ली बॉर्डर पर नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर प्रदर्शन कर रहे हैं.

दूसरी ओर 28 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाराष्ट्र के संगोला से पश्चिम बंगाल के शालीमार को जाने वाली 100वीं किसान रेल को हरी झंडी दिखाएंगे. कार्यक्रम का संचालन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगा. प्रधानमंत्री कार्यालय ने शनिवार को इस बारे में जानकारी दी. कार्यक्रम में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पीयूष गोयल भी मौजूद रहेंगे. बहु-उत्पाद ट्रेन सेवा के तहत इस ट्रेन में सब्जियां भरकर बंगाल भेजी जाएंगी. जैसे गोभी, शिमला मिर्च, गाजर, मिर्च और प्जाय के साथ फलों में अंगूर, संतरा, केला और कस्टर्ड सेव लदा होगा. ट्रेन जिन स्थानों पर रूकेगी, वहां-वहां लोडिंग और अनलोडिंग की सुविधा भी उपलब्ध होगी.

प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक भारत सरकार ने सब्जियों और फलों के ट्रांसपोर्टेशन पर 50 फीसदी सब्सिडी का ऐलान किया है. पहली किसान रेल महाराष्ट्र देवलााली से बिहार के दानापुर के बीच चलाई गई थी, 7 अगस्त को चली इस ट्रेन को बाद में मुजफ्फरपुर के बढ़ा दिया.

पहली किसान ट्रेन पहले हफ्ते में ये सिर्फ एक दिन चलती थी. बाद में इसे तीन दिन कर दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज