लाइव टीवी

Citizenship Amendment Bill 2019: असम में प्रदर्शन पर पीएम मोदी का ट्वीट, दिया आश्वासन

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 11:49 AM IST
Citizenship Amendment Bill 2019: असम में प्रदर्शन पर पीएम मोदी का ट्वीट, दिया आश्वासन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम के प्रदर्शन पर टिप्पणी की है. (PTI Photo/Shahbaz Khan)

Citizenship Amendment Bill 2019 पास होने के बाद केंद्र सरकार ने असम समेत पूर्वोत्तर राज्यों में कानून व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने के लिए अर्द्धसैनिक बलों के पांच हजार जवानों को भी भेजा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 11:49 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill 2019) के संसद से पारित होने के बाद असम और पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों में उपजे बवाल के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ट्वीट किया है. प्रधानमंत्री ने लोगों से कहा है कि सभी के अधिकारों की रक्षा केंद्र सरकार और वह खुद करेंगे. बता दें कि CAB 2019 पास होने के पहले और इसके बाद असम और पूर्वोत्तर के राज्यों में उग्र प्रदर्शन किये जा रहे हैं.

पूर्वोत्तर में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर पीएम मोदी ने ट्वीट किया, 'मैं असम के अपने भाइयों और बहनों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि नागरिकता संशोधन बिल के पारित होने के बाद उन्हें चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. मैं उन्हें आश्वस्त करना चाहता हूं- कोई भी आपके अधिकारों, विशिष्ट पहचान और सुंदर संस्कृति को नहीं छीन सकता है. यह फलता-फूलता और विकसित होता रहेगा.'

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'केंद्र सरकार और मैं खंड 6 की भावना के अनुसार असमिया लोगों के राजनीतिक, भाषाई, सांस्कृतिक और भूमि अधिकारों को संवैधानिक रूप से संरक्षित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं.'

 




गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) को लेकर असम समेत पूर्वोत्तर राज्यों में व्यापक विरोध प्रदर्शन के बीच संसद ने बुधवार को इस विधेयक को अपनी मंजूरी दे दी. राज्यसभा ने बुधवार को विस्तृत चर्चा के बाद इस विधेयक को पारित कर दिया. सदन ने विधेयक को प्रवर समिति में भेजे जाने के विपक्ष के प्रस्ताव और संशोधनों को खारिज कर दिया. विधेयक के पक्ष में 125 मत पड़े, जबकि 105 सदस्यों ने इसके खिलाफ मतदान किया.



असम में अनिश्चिकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया
विधेयक के संसद में पारित होने के तुरंत बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे भारत और इसके करुणा तथा भाईचारे के मूल्यों के लिए ऐतिहासिक दिन करार दिया. उन्होंने ट्वीट किया कि विधेयक ‘वर्षों तक पीड़ा झेलने वाले अनेक लोगों के कष्टों को दूर करेगा.’

मोदी ने राज्यसभा में विधेयक का समर्थन करने वाले सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया. गृह मंत्री अमित शाह ने दावा किया कि नागरिकता संशोधन विधेयक पूरी तरह से संवैधानिक प्रावधानों के अनुरूप है तथा इसमें ‘किसी की नागरिकता लेने नहीं, देने’ का प्रावधान है इसलिए देश के मुस्लिम नागरिकों को इससे डरने की जरूरत नहीं है.

CAB 2019 को संसद द्वारा मंजूरी प्रदान किए जाने के बीच इसे लेकर जारी विरोध प्रदर्शनों के मद्देनजर असम के गुवाहाटी में बुधवार को अनिश्चिकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया, जबकि त्रिपुरा में असम राइफल्स के जवानों को तैनात कर दिया गया है. पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों से भी इसी तरह के विरोध प्रदर्शन की खबरें है, लेकिन राज्यसभा में विस्तृत चर्चा के बाद इसे पारित कर दिया गया. विधेयक को दो दिन पहले लोकसभा में पारित किया गया था. अब इस विधेयक को कानून बनने के लिए राष्ट्रपति के हस्ताक्षर की जरूरत है.

विधेयक के खिलाफ बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी असम की सड़कों पर उतरे. प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ झड़प हुई और इससे राज्य में अराजकता की स्थिति पैदा हो गई है.

यह भी पढ़ें:  CAB पर बोले मार्कण्डेय काटजू- कश्मीर के बाद असम की बारी, क्या होगा देश का हाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 11:04 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर