कोरोना वायरस के खिलाफ आज जन आंदोलन की शुरुआत करेंगे पीएम मोदी

PM नरेंद्र मोदी   (फाइल फोटो)
PM नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आगामी त्योहारों, ठंड के मौसम और अर्थव्यवस्था की स्थिति को ध्यान में रखते हुए और कोरोना वायरस (Covid-19 Pandemic) के खिलाफ बचाव के सारे उपायों का पालन करते हुए देश को कैसे आगे बढ़ाया जाए, इस बारे में आज एक ‘जन आंदोलन’ की शुरुआत करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 7:45 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) गुरुवार को कोरोना वायरस (Coronavirus in India) के खिलाफ एक जागरुकता अभियान की शुरुआत करेंगे. बुधवार को प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, पीएम मोदी कोविड के उपयुक्त व्यवहार करने वाले जन आंदोलन नाम से अभियान की शुरुआत करेंगे. ये अभियान आगामी त्योहारों और देश की अर्थव्यवस्था को ध्यान में रख कर शुरू किया जा रहा है. इसका  उद्देश्य जन भागीदारी को प्रोत्साहित किया जाना होगा. इसमें लोगों को 'मास्क पहनने, शारीरिक दूरी का पालन करें, हाथ की स्वच्छता बनाए रखने' का संदेश दिया जाएगा.

इस जागरुकता अभियान के बारे में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कोरोना से बचाव का एकमात्र हथियार मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन करना और हाथ धोना है. उन्होंने कहा कि इसी सिद्धांत का पालन करते हुए सार्वजनिक स्थानों पर इन उपायों के बारे में जागरुकता बढ़ाने के अभियान को शुरू किया जाएगा.

इन जगहों पर चलेगा जागरुकता अभियान
जावड़ेकर ने कहा, ‘कोरोना काल में डरने की नहीं, सावधानी की जरुरत है. यह संदेश जन जन तक पहुंचाने के लिए जनचेतना की मुहीम चलाई जाएगी. दवा और वैक्सीन के बिना मास्क, दो गज की सुरक्षित दूरी, हाथ धोना ही सुरक्षा कवच हैं.’ उन्होंने कहा कि जनचेतना की मुहिम के लिए लोगों के संपर्क के सभी ठिकानों पर बैनर पोस्टर लगेंगे.
जावड़ेकर ने कहा कि ठंड के दिन आ रहे हैं और ठंड के दिनों में लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए और कल से इसके बारे में एक जन आंदोलन शुरू होगा. उन्होंने कहा, ‘लोगों के संपर्क के सभी ठिकानों पर बैनर, पोस्टर और स्टीकर लगेंगे. चाहे हो हवाई अड्डा हो या बस अड्डा. ऑटो रिक्शा हो या मेट्रो या फिर पेट्रोल पंप. स्कूल-कॉलेज, आंगनबाड़ी हो बाजार या फिर पुलिस स्टेशन. जहां भी लोग काम के लिए जाते हैं, ऐसे सभी जगह स्थानों पर एक जन चेतना की मुहिम चलेगी.’



कैसे चलेगा यह अभियान?
इस अभियान के तहत ज्यादा कोरोना मामले वाले जिलों में टार्गेटेड कम्युनिकेशन होगा. इसके सात ही प्रत्येक नागरिक तक पहुंचने के लिए सरल और आसानी से समझा जा सकने वाला संदेश जारी किया जाएगा. पीएमओ
ने बताया कि सभी मीडिया प्लेटफार्मों का उपयोग करके पूरे देश में प्रसार होगा और सार्वजनिक स्थानों पर बैनर और पोस्टर; फ्रंटलाइन वर्कर्स और सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को शामिल करना इस अभियान में शामिल किया जाएगा.

बताया गया कि सरकारी परिसरों में होर्डिंग्स / वॉल पेंटिंग / इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले बोर्ड के जरिए कोरोना के खिलाफ जागरुकता अभियान किया जाएगा. साथ ही जागरुकता अभियान के संदेश को घर तक पहुंचाने के लिए स्थानीय और राष्ट्रीय प्रभावशाली व्यक्तियों को शामिल किया जाएगा.







साथ ही नियमित जागरुकता के लिए मोबाइल वैन चलाया जाएगा और ऑडियो संदेश; जागरुकता पर पंपलेट / ब्रोशर भी लोगों को दिया जाएगा. COVID संदेशों को चलाने के लिए स्थानीय केबल ऑपरेटरों की मदद ली जाएगी और असरदार पहुंच के लिए मीडिया को भी इस आंदोलन में शामिल किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज