लाइव टीवी

कर्नाटक: मेंगलुरु एयरपोर्ट पर बम रखने वाले संदिग्ध ने किया सरेंडर, कहा- बेरोजगारी से था परेशान

News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 2:57 PM IST
कर्नाटक: मेंगलुरु एयरपोर्ट पर बम रखने वाले संदिग्ध ने किया सरेंडर, कहा- बेरोजगारी से था परेशान
संदिग्ध आदित्य राव.

पुलिस के मुताबिक, आदित्य राव उडुप्पी के मनिपाल का रहने वाला है. वह इंजीनियर में ग्रेजुएट है और एमबीए भी कर चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 2:57 PM IST
  • Share this:
मेंगलुरु. कर्नाटक के मेंगलुरु एयरपोर्ट के टिकट काउंटर पर कथित रूप से बम रखने वाले संदिग्ध ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है. संदिग्ध की पहचान आदित्य राव के तौर पर हुई है. पुलिस के मुताबिक, आदित्य राव उडुप्पी के मनिपाल का रहने वाला है. वह इंजीनियर में ग्रेजुएट है और एमबीए भी कर चुका है. फिलहाल बेरोजगार है. पूछताछ के दौरान आदित्य राव ने कबूल किया कि एयरपोर्ट पर नौकरी नहीं मिलने के कारण वह गुस्से में था. बदला लेने के इरादे से उसने ये सब किया. फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.

आदित्य राव (36) ने बुधवार सुबह बेंगलुरु पुलिस हेडक्वार्टर में डीजीपी ऑफिस में सरेंडर किया. बाद में उसे हलसुरु पुलिस स्टेशन में पूछताछ के लिए ले जाया गया. पूछताछ में आदित्य राव ने बताया कि उसने दो साल पहले केम्पेगौडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (बेंगलुरु एयरपोर्ट) पर सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी के लिए अप्लाई किया था. हालांकि, नौकरी के लिए वह जरूरी दस्तावेज नहीं जमा कर पाया, ऐसे में उसे नौकरी नहीं मिली. इस वजह से वह आक्रोशित था.

करता था एयरपोर्ट पर बम होने का फर्जी कॉल
पुलिस के मुताबिक, बदला लेने के लिए उसने 30 अगस्त 2018 को उसने बेंगलुरु एयरपोर्ट पर फर्जी कॉल करके कहा था कि एक विमान में बम है. इससे एयरपोर्ट पर अफरा-तफरी मच गई थी. सरेंडर के बाद आदित्य राव ने ये भी बताया कि इसके पहले भी वह कई बार एयरपोर्ट पर बम होने के फर्जी कॉल कर चुका है. हालांकि, पुलिस इसका पता लगाने में जुटी है कि राव को मेंगलुरु एयरपोर्ट के लिए आईईडी कहां से मिला?




ये भी बताया जा रहा है कि संदिग्ध आदित्य राव 2012 में बेंगलुरु आया था. इस बीच उसे एक प्राइवेट बैंक में नौकरी मिल गई, लेकिन कुछ दिनों में ही उसने नौकरी छोड़ दी और मेंगलुरु लौट आया. यहां वह सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करने लगा. इसके अलावा वह पुथिग मठ में कुछ दिनों के लिए कुक का भी काम कर चुका है. करीब साल भर बाद वह फिर से बेंगलुरु गया और एक इंश्योरेंस कंपनी के साथ जुड़ गया. बाद में उसने ये नौकरी भी छोड़ दी और बेंगलुरु एयरपोर्ट में जॉब की कोशिश कर रहा था.


लैपटॉप चोरी के आरोप में जा चुका है जेल
आदित्य राव पर बम की फर्जी कॉल करने के अलावा लैपटॉप चुराने के आरोप भी लग चुके हैं. इस आरोप में वह तीन महीने के लिए जेल भी जा चुका है.

पूछताछ के लिए बेंगलुरु रवाना हुई टीमें
मंगलुरु पुलिस कमिश्नर डॉ. पीएस हर्षा ने बताया, 'इस मामले की जांच के लिए तीन टीम बनाई गई हैं. संदिग्ध के सरेंडर के बाद ये टीमें भी उससे पूछताछ के लिए बेंगलुरु रवाना हो चुकी है. अभी इस मामले पर कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी.'

बता दें कि मेंगलुरु एयरपोर्ट में टिकट काउंटर के पास सोमवार को एक लावारिस बैग में मिला था. बम स्क्वॉड ने जब इसकी तलाशी ली, तो अंदर आईडी मिला. आईडी मिलने की सूचना के बाद एयरपोर्ट पर अफरा-तफरी मच गई थी. हालांकि, बम स्क्वॉड ने बैग को सुरक्षित एयरपोर्ट से बाहर निकाल दिया था.

 ये भी पढ़ें:- कर्नाटक: मंगलुरु एयरपोर्ट पर टिकट काउंटर के पास बैग में मिला IED, सर्च ऑपरेशन जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 12:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर