प्रियंका गांधी दिल्ली में बंगला खाली कर लखनऊ हो सकती हैं शिफ्ट, यहां होगा ठिकाना

प्रियंका गांधी दिल्ली में बंगला खाली कर लखनऊ हो सकती हैं शिफ्ट, यहां होगा ठिकाना
प्रियंका गांधी को एक महीने में लोधी रोड स्थित सरकारी आवास खाली करना होगा (File Photo)

उत्तर प्रदेश कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (UP Congress General Seceratary Priyanka Gandhi Vadra) को आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (Housing & Urban Development Ministry) की तरफ से एक महीने में बंगला खाली करने का नोटिस भेजा गया है.

  • Share this:
रंजीता झा
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (UP Congress General Seceratary Priyanka Gandhi Vadra) को लोधी रोड (Lodhi Road) स्थित सरकारी आवास को खाली कार्नर का आदेश दिया गया है. प्रियंका को आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (Housing & Urban Development Ministry) की तरफ से नोटिस भेजा गया है, इस नोटिस में ये भी लिखा गया है कि प्रियंका गांधी अपने लोधी रोड स्थित सरकारी बंगला नंबर 35 को 1 महीने के भीतर खाली करें.

इस खबर के साथ ही यूपी कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने ये खबर मीडिया में फ्लोट करने लगे कि "प्रियंका गांधी जल्द लखनऊ शिफ्ट होने वाली हैं. ये तो लॉकडाउन (Lockdown) हो गया नहीं तो अब तक लखनऊ शिफ्ट हो गईं होतीं." पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि "प्रियंका जी पहले भी पूर्व केंद्र मंत्री शीला कौल जी के गोखले मार्ग स्थित बंगले में रह चुकी हैं."

शीला कौल, इंदिरा गांधी की मामी हैं और प्रसिद्ध वनस्पति विज्ञान प्रोफेसर कैलाश नाथ कौल की पत्नी थीं.
ये भी पढ़ें-रविशंकर प्रसाद ने कहा- मौके का फायदा उठाते हुए ‘मेड इन इंडिया’ ऐप बनाएं भारतीय



क्या प्रियंका गांधी को पहले से थी इस बात की खबर?
कांग्रेस सूत्रों की माने तो प्रियंका गांधी को इस बात की जानकारी पहले से थी या यूं कहें कि वो बीजेपी सरकार की मंशा को उस वक्त ही समझ गयी थी जब गांधी परिवार से एसपीजी सुरक्षा ले ली गई थी. गांधी परिवार के करीबी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने बताया कि एसपीजी सुरक्षा हटने के बाद ही इस बात की चर्चा थी कि सुरक्षा के लिहाज से प्रियंका गांधी को लोधी रोड में सरकारी बंगला दिया गया था लेकिन जब सुरक्षा हटा दी गई है तो बंगला भी खाली कराया जा सकता है. उसी दौरान जब प्रियंका गांधी लखनऊ दौरे पर गईं तो कौल हाउस ठहरीं. उस प्रवास के दौरान वो 4-5 घण्टे वहां ठहरीं. सूत्र बताते उसी वक्त उन्होंने तय किया कि वो जब भी लखनऊ आएगी कौल हाउस में ही ठहरेंगी.

 

 

कांग्रेस के नेता ने बीजेपी को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की दरियादिली का हवाला दिया
कांग्रेस के पूर्व सांसद और यूपी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राशिद अल्वी ने न्यूज़18 से बात करते हुए कहा कि, जब बीजेपी (BJP) पूरे देश मे चुनाव हार गई थी, अटल जी भी चुनाव हार गए थे तब प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) ने कैबिनेट में पास कराया कि कोई राष्ट्रीय पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष है वो चुनाव जीता है या हारा है उसको कैबिनेट रैंक का मकान मिले और अटल जी को भी मिला. अमित शाह (Amit Shah) जब दिल्ली आए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे तब वो सांसद नहीं थे लेकिन राजीव गांधी के उसी कानून के तहत उन्हें बजी दिल्ली में बंगाल मिला. लेकिन आज जो प्रियंका गांधी के साथ किया जा रहा है वो बीजेपी का असली चरित्र है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज