• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • प्रियंका गांधी ने PM मोदी पर लगाए आरोप, कहा- किसानों पर हमला देश पर हमला है

प्रियंका गांधी ने PM मोदी पर लगाए आरोप, कहा- किसानों पर हमला देश पर हमला है

प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना

प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना

Delhi Republic Day Violence: 72वें गणतंत्र दिवस के दौरान किसान केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में ट्रैक्टर रैली का आयोजन कर रहे थे. उस दौरान गांधी ने जय जवान जय किसान का नारा दिया था. इस घटना के बाद से ही पुलिस प्रशासन काफी सक्रिय नजर आ रहा है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों को कांग्रेस (Congress) ने अपना समर्थन दिया है. शुक्रवार को भी पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने किसानों पर हुए हमले को देश पर हमला बताया है. बीती 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों ने राजधानी दिल्ली में ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) का आयोजन किया था. जिसके बाद हिंसा भड़क गई थी. फिलहाल पुलिस ने कुछ किसान नेताओं समेत उपद्रवियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

    प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, ‘किसानों पर भरोसा देश की सबसे बड़ी पूंजी है.’ वहीं, उन्होंने कहा, ‘उनका भरोसा तोड़ना अपराध है. उनकी आवाज का न सुनना पाप है. उन्हें धमकी देना बड़ा पाप है.’ उन्होंने कहा, ‘किसानों पर हुआ हमला देश पर हमला है.’ उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी देश को कमजोर करने के आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री से निवेदन करती हूं कि देश को कमजोर न करें.’

    72वें गणतंत्र दिवस के दौरान किसान केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में ट्रैक्टर रैली का आयोजन कर रहे थे. उस दौरान गांधी ने जय जवान जय किसान का नारा दिया था. इस घटना के बाद से ही पुलिस प्रशासन काफी सक्रिय नजर आ रहा है. दिल्ली पुलिस अधिकारियों और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बीच बैठक भी हो चुकी है. शाह ने पुलिस को आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

    यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: सिंघू बॉर्डर पर हंगामा, प्रदर्शनकारी की तलवार से SHO घायल, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले और भांझी लाठियां

    राजधानी दिल्ली में बैरिकेड तोड़कर घुसने और तोड़फोड़ मचाने का मामला सामने आया था. पुलिस ने अब तक 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं, इस घटना से तार जुड़े होने के चलते 25 आपराधिक मामले अब तक दर्ज किए जा चुके हैं. राजधानी की अलग-अलग सीमाओं पर किसान संगठन दो महीनों से ज्यादा समय से आंदोलन कर रहे हैं. किसान तीनों कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग पर अड़े हैं.

    किसानों की ट्रैक्टर परेड को दौरान हुई हिंसा के बाद स्थानीय लोगों के बीच भी आक्रोश पैदा हो गया था. लोगों ने आंदोलन खत्म करने की मांग की थी और रैली के दौरान तिरंगे का अपमान किए जाने के आरोप लगाए थे. वहीं, शुक्रवार को सिंघु बॉर्डर पर एक बार फिर हालात खराब हो गए हैं. आंदोलन खत्म कराने पहुंचे और किसानों की वजह से बिगड़े हालात को काबू करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़े.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज