Assembly Banner 2021

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ननों के साथ कथित दुर्व्यवहार के मुद्दे को केरल की चुनावी सभा में उठाया

प्रियंका गांधी वाद्रा ने ननों के साथ कथित दुर्व्यवहार के मुद्दे को उठाया.

प्रियंका गांधी वाद्रा ने ननों के साथ कथित दुर्व्यवहार के मुद्दे को उठाया.

केरल में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी वाड्रा ने ननों के साथ कथित दुर्व्यवहार के मुद्दे को उठाया. उन्‍होंने दावा किया कि गृह मंत्री अमित शाह ने घटना की निंदा इसलिए की क्योंकि चुनाव सिर पर हैं. उन्होंने कहा, “भाजपा की युवा इकाई के लोगों को किसने अनुमति दी कि वे ट्रेन में महिलाओं को परेशान करें? किसने उन्हें यह अधिकार दिया कि ननों और उनके साथ की लड़कियों के कागज की जांच करें?”

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 30, 2021, 7:36 PM IST
  • Share this:
करुणागापल्ली (केरल). कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी वाड्रा ने केरल की ननों के साथ कथित तौर पर हुए दुर्व्यवहार के मुद्दे पर मंगलवार को भाजपा और आरएसएस की आलोचना की और दावा किया कि गृह मंत्री अमित शाह ने घटना की निंदा इसलिए की क्योंकि चुनाव सिर पर हैं.

कोल्लम जिले के करुणागापल्ली में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा, “यह चुनाव का समय है. इसलिए जब झांसी में ननों को ट्रेन से उतारा गया और उनके ही लोगों द्वारा परेशान किया गया तब केंद्रीय मंत्री ने इसे गलत बताया. बाकी समय वे इस तरह के बर्ताव को प्रोत्साहित करते हैं.”

ये भी पढ़ें :- द‍िल्‍ली को फ‍िर डरा रहा है कोरोना, पिछले 10 दिनों में 59 लोगों की मौत, जानें क्‍या है न‍िगमबोध घाट का हाल?



उन्होंने कहा, “भाजपा की युवा इकाई के लोगों को किसने अनुमति दी कि वे ट्रेन में महिलाओं को परेशान करें? किसने उन्हें यह अधिकार दिया कि ननों और उनके साथ की लड़कियों के कागज की जांच करें?” प्रियंका गांधी ने कहा, “किसने उन्हें उनका धर्म पूछने की इजाजत दी? क्या हम यह मानकर चल रहे हैं कि हमारे देश में महिलाएं किसी के द्वारा परेशान किए बिना ट्रेन में यात्रा नहीं कर सकतीं और उन्हें कुछ गुंडों को जवाब देना होगा कि वे किसके प्रति आस्था रखती हैं?”
ये भी पढ़ें :- 1 अप्रैल से हवाई सफर करना पड़ेगा महंगा, DGCA ने बढ़ा दी सिक्योरिटी फीस

कांग्रेस नेत्री ने कहा कि उन्होंने ननों से फोन पर बात की थी और उन्होंने बताया कि वे चिंतित हैं. प्रियंका गांधी ने कहा कि उन्हें (ननों) ट्रेन से उतारा गया, वे डरी हुई थीं और उनकी सुरक्षा करने वाला कोई नहीं था. उन्होंने कहा कि जब भाजपा और आरएसएस महिलाओं की सुरक्षा को लेकर खोखले बयान देते हैं तो वह झूठा ही होता है क्योंकि वे महिलाओं का सम्मान नहीं करते. प्रियंका गांधी ने कहा कि चुनाव के समय के अलावा बाकी वक्त वे (भाजपा) यही कहते हुए बिताते हैं कि महिलाओं को क्या पहनना चाहिए, क्या काम करना चाहिए, कहां जाना चाहिए.

उन्होंने कहा, “उनके मंत्री महिलाओं की जींस पर बयान देते हैं. उनके एक मंत्री ने कहा था कि एक कानून होना चाहिए कि जब महिलाएं जिले से बाहर जाएं तो उन्हें पुलिस में पंजीकरण कराना चाहिए.” उन्होंने कहा कि भाजपा महिलाओं की पहचान का सम्मान नहीं करती. प्रियंका गांधी केरल में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार करने के लिए आई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज