प्रियंका गांधी ने लिखा भावुक पोस्ट, कहा- सरकार ने हमें निराश किया, एक दूसरे के साथ खड़े रहें

प्रियंका गांधी वाद्रा (ANI)

प्रियंका गांधी वाद्रा (ANI)

प्रियंका गांधी वाद्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने सरकार पर कोरोना महामारी से निपटने को लेकर लोगों को निराश करने का आरोप लगाते हुए कहा कि संकट के इस दौर में लोगों को एक दूसरे साथ खड़े रहना चाहिए तथा पूरा सहयोग करना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2021, 10:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra)  ने सरकार पर कोरोना महामारी (Covid Pandemic) से निपटने को लेकर लोगों को निराश करने का आरोप लगाते हुए कहा कि संकट के इस दौर में लोगों को एक दूसरे साथ खड़े रहना चाहिए और पूरा सहयोग करना चाहिए.

उन्होंने फेसबुक पर एक भावुक पोस्ट में कहा, ‘ये लाइनें लिखते वक्त मेरा दिल भरा हुआ है. मुझे पता है पिछले कुछ हफ़्तों में आपमें से कई लोगों ने अपने प्रियजनों को खोया है, कइयों के परिजन जिंदगी के साथ जद्दोजहद कर रहे हैं और कई लोग अपने घरों पर इस बीमारी से लड़ते हुए सोच रहे हैं, आगे क्या होगा. हममें से कोई भी इस आफत से अछूता नहीं है. पूरे देश में साँसों के लिए जंग चल रही है, अस्पताल में भर्ती होने और दवाओं की एक खुराक पाने के लिए पूरे देश में लोगों के अंतहीन संघर्ष जारी हैं.’

प्रियंका ने कहा कि पूरे देश में लोग ऑक्सीजन, चिकित्सा सेवा और जीवनरक्षक दवाओं की एक-एक खुराक के लिए संघर्ष कर रहे हैं.


हम होंगे कामयाबप्यारे दोस्तों,ये लाइनें लिखते वक्त मेरा दिल भरा हुआ है। मुझे पता है पिछले कुछ हफ़्तों में आपमें से...Posted by Priyanka Gandhi Vadra on Tuesday, April 27, 2021




Youtube Video




उन्होंने दावा किया, ‘इस सरकार ने देश की उम्मीदों को तोड़ दिया है. मैंने विपक्ष की एक नेता के रूप में इस सरकार से लगातार लड़ाइयां लड़ी हैं, मैं इस सरकार की विरोधी रही हूँ मगर मैंने भी कभी ये नहीं सोचा था कि ऐसी मुश्किल घड़ी में कोई सरकार और उसका नेतृत्व इस कदर अपनी ज़िम्मेदारियों को पीठ दिखा सकता है. हम अब भी अपने दिलों में ये भरोसा पाले हुए हैं कि वे जागेंगे और लोगों का जीवन बचाने के लिए ठोस कदम उठाएंगे.’

प्रियंका ने लोगों का आह्वान किया कि इस मुश्किल घडी में लोग एक दूसरे का साथ दें, साथ खड़े रहें और पूरा सहयोग करें. उन्होंने लिखा 'बावजूद इसके कि देश का शासन चलाने के पवित्र कार्यभार की जिम्मेदारी रखने वाले लोगों ने हमें नाउम्मीद किया है, हमें उम्मीद का दामन नहीं छोड़ना है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज