लाइव टीवी

प्रोफेसर रोमिला थापर ने युधिष्ठिर को अशोक से प्रेरित बताया! सोशल मीडिया पर मचा हंगामा

News18Hindi
Updated: September 22, 2019, 11:47 AM IST
प्रोफेसर रोमिला थापर ने युधिष्ठिर को अशोक से प्रेरित बताया! सोशल मीडिया पर मचा हंगामा
प्रोफेसर रोमिला थापर ने युधिष्ठिर को अशोक से प्रेरित बताया

सोशल मीडिया (social media) पर वायरल हो रहे इस वीडियो (viral video) में मशहूर इतिहासकार रोमिला थापर (Romila Thapar) कहती दिख रही हैं कि 'महाभारत में युधिष्ठिर (Yudhishthira) का चरित्र सम्राट अशोक (Samrat Ashoka) से प्रेरित था'.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2019, 11:47 AM IST
  • Share this:
मशहूर इतिहासकार रोमिला थापर (Romila Thapar) से जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) प्रशासन की ओर से मांगे गए सीवी (CV) का विवाद अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि उनके एक वीडियो क्लिप (viral video) ने सोशल मीडिया (social media) पर बहस छेड़ दी है.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में रोमिल थापर कहती दिख रही हैं कि 'महाभारत में युधिष्ठिर (Yudhishthira) का चरित्र सम्राट अशोक (Samrat Ashoka) से प्रेरित था'. 21 सितंबर को वायरल हुई इस क्लिप के बाद से लोग प्रोफेसर थापर की योग्यता पर सवाल खड़े करने लगे हैं. सोशल मीडिया पर यूजर्स के बीच इस बात को लेकर बहस तेज हो गई है कि प्रोफेसर थापर को महाभारत और सम्राट अशोक के समय में अतंर को लेकर शायद जानकारी नहीं है.



रोमिला थापर की यह वीडियो क्लिप सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर कुछ लोग उन पर इतिहास को तोड़ने-मरोड़ने का आरोप लगा रहे हैं. वहीं कुछ लोग इस पर मीम्स भी शेयर कर रहे हैं.

द स्किन डॉक्टर नाम के एक यूजर ने लिखा, 'रोमिला थापर ने सही कहा कि युधिष्ठिर ने सम्राट अशोक से प्रेरणा ली. दरअसल, अशोक महाभारत के पूरे युद्ध के दौरान युधिष्ठिर को गाइड करने के लिए वहीं मौजूद थे.'


वहीं दिनकर शर्मा नाम के एक यूजर ने ट्वीट किया, 'शायद संन्यास लेते वक्त युधिष्ठिर के मन में सोनिया गांधी की छवि रही होगी, जिन्होंने मनमोहन सिंह के लिए कुर्सी छोड़ दी.'


फ्रस्टटेटेड इंडियन ने ट्वीट किया, 'चलो रोमिला थापर ने यह तो नहीं कहा कि राम राज्य नेहरू के शासन से प्रेरित था.'





एक ओर जहां यूजर्स प्रोफेसर थापर के इस बयान पर सवाल उठा रहे हैं वहीं दूसरी तरफ कई बड़ी हस्तियां उनके समर्थन में आ गई हैं. इतिहास और माइथोलॉजी एक्सपर्ट देवदत्त पटनायक ने प्रोफेसर थापर की ओर से दो कालखंडों के बारे में जानकारी देते हुए ट्विटर पर इस पूरे विवाद पर स्पष्टिकरण देने की कोशिश की है. पटनायक ने ट्विटर पर बताया है कि प्रोफेसर थापर ने जिस युधिष्ठिर नाम के चारित्र का जिक्र किया है वह महाभारत के समय का है जो 2000 साल पहले लिखा गया है जबकि अशोक के बारे में इतिहास में जो बातें हैं वो 2300 साल पहले की हैं.



एक मिनट की जिस वीडियो क्लिप को लेकर सोशल मीडिया पर हंगामा मचा हुआ है उससे ये स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि प्रोफेसर थापर ने इस क्लिप में जो बातें कहीं हैं उसके आगे और पीछे क्या कहा था.

यह है पूरा वीडियो


जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय ने मांगा था CV
गौरतलब है कि रोमिला थापर से कुछ दिन पहले ही जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय ने उनका सीवी मांगा था. इस मुद्दे पर रोमिला थापर ने अपना सीवी भेजने से साफ इनकार कर दिया था. उन्होंने विश्वविद्यालय को इस संदर्भ में खत लिखकर अपना रुख साफ कर दिया था. थापर ने कहा कि कुछ लोग जेएनयू को सड़क छाप संस्थान बना रहे हैं. ये सारी चीजें अनजाने में नहीं हो रही हैं, इसे जानबूझकर किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें :-
रोमिला थापर का JNU को CV भेजने से इनकार, कहा- संस्थान को सड़क छाप बना रहे ये लोग
JNU में रोमिला थापर से सीवी मांगने पर इसलिए मचा है इतना बवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 22, 2019, 8:02 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर