होम /न्यूज /राष्ट्र /कर्नाटक: बजरंग दल के सदस्य की हत्या के बाद जोरदार प्रदर्शन, आंसू गैस के गोले का इस्तेमाल, 10 प्वाइंट में जानें मामला

कर्नाटक: बजरंग दल के सदस्य की हत्या के बाद जोरदार प्रदर्शन, आंसू गैस के गोले का इस्तेमाल, 10 प्वाइंट में जानें मामला

घटना के बाद शिमोगा में धारा 144 लागू कर दी गई है. (फाइल फोटो)

घटना के बाद शिमोगा में धारा 144 लागू कर दी गई है. (फाइल फोटो)

Bajrang Dal Man Murder in Karnataka : मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने पुलिस को यह सुनिश्चित करने को कहा कि अन्य स्थान पर ...अधिक पढ़ें

बेंगलुरु: कर्नाटक (Karnataka) में दक्षिणपंथी संगठन बजरंग दल (Bajrang Dal Man Murder) के एक सदस्य की हत्या के बाद राज्य के शिवमोगा शहर (Shivamogga Town) में तनाव की स्थिति बनी हुई है. इस बीच कई जगहों पर वाहनों को आग लगा दी गई जबकि शहर में अलग-अलग जगहों पर पथराव की सूचना भी मिली है.

आइए 10 प्वाइंट में बताते हैं आपको पूरा मामला…

कल रविवार को दर्जी का काम करने वाले एक 26 वर्षीय व्यक्ति जो कि बजरंग दल का सदस्य था कि रात नौ बजे कुछ अज्ञात लोगों ने चाकू मार कर हत्या कर दी. घटना के बाद उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका. इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है.
यह शहर, बेंगलुरु से करीब 250 किलोमीटर दूर है, जहां हाल ही में हिजाब पहनने को लेकर कुछ महाविद्यालयों में विवाद उत्पन्न हो गया था. फिलहाल अभी तक हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है.
घटना के बाद मृतक के समर्थक सड़कों पर उतर आए. देखते देखते विद्रोह इतना बढ़ गया कि कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया. एहतियात के तौर पर प्रशासन ने सार्वजनिक समारोहों पर प्रतिबंध लगा दिया है और स्कूल कॉलेज बंद रखने के आदेश भी दिए हैं.
इस मामले में राज्य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा कि अब तक हुई जांच में किसी भी तरह से हत्या और हिजाब विवाद के पीछे कोई संबंध सामने नहीं आया है. उन्होंने मीडिया से कहा कि हिजाब मुद्दे का इस हत्या की घटना से कोई लेना देना नहीं है और यह दोनों ही अलग-अलग कारणों से हुआ है.
बजरंग दल सदस्य की हत्या को लेकर मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और उसे इसमें कुछ सुराग भी मिले हैं जिस पर जांच जारी है.
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने पुलिस को यह सुनिश्चित करने को कहा कि अन्य स्थान पर कोई अप्रिय घटना ना हो. बोम्मई ने कहा, ‘‘मैं शिवमोगा के लोगों से कहना चाहूंगा कि हमने हत्यारों को जल्द गिरफ्तार करने के लिए कदम उठाए हैं. अफवाहों पर ध्यान ना दें. कानून एवं व्यवस्था बनाए रखें.’’
इस बीच कर्नाटक के ग्रामीण विकास मंत्री के एस ईश्वरप्पा ने राज्य कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार पर हिजाब विरोधी की गई टिप्पणियों के साथ हत्या को उकसाने का आरोप लगाया है.
मंत्री ने दर्जी हर्ष को ईमानदार आदमी बताते हुए कहा कि मुस्लिम गुंडों ने उसकी हत्या कर दी. उन्होंने कहा कि हाल ही में शिवकुमार ने दावा किया था कि राष्ट्रीय ध्वज को भगवा ध्वज में बदल दिया गया था और हिजाब के विरोध के लिए सूरत में एक कारखाने से लगभग 50 लाख भगवा शॉल मंगवाए गए थे. मंत्री ने कहा कि उनके इन बयानों के बाद गुंडागर्दी बढ़ गई है.
ईश्वरप्पा की टिप्पणी का जवाब देते हुए डीके शिवकुमार ने कहा कि वह एक पागल आदमी हैं. सिद्धारमैया ने कहा है कि उनकी जुबान और दिमाग के बीच कोई संबंध नहीं है. डीके शिवकुमार ने मांग की कि भाजपा नेतृत्व को उन्हें पार्टी से बर्खास्त करना चाहिए. विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने मांग की है कि राज्य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र को राज्य में कानून व्यवस्था लागू नहीं होने की वजह से उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.
पुलिस अधीक्षक बीएम लक्ष्मी प्रसाद ने पत्रकारों को बताया कि घटना में शामिल अपराधियों का पता लगाने के लिए एक कार्यबल का गठन किया गया है. प्रसाद ने कहा, ‘‘हमारी प्राथमिकता उनका (घटना में शामिल अपराधियों का) पता लगाना और उन्हें सजा दिलवाना है. हम लोगों से सहयोग करने और कोई भावनात्मक कदम नहीं उठाने की अपील करते हैं.’

Tags: Bajrang dal, Hijab controversy, Karnataka, Murder

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें