लाइव टीवी

असम में नागरिकता विधेयक के खिलाफ कहीं नग्न प्रदर्शन, तो कहीं लोगों ने लहराई तलवार

भाषा
Updated: December 9, 2019, 10:36 AM IST
असम में नागरिकता विधेयक के खिलाफ कहीं नग्न प्रदर्शन, तो कहीं लोगों ने लहराई तलवार
नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

आसू के मुख्य सलाहकार समुज्जल कुमार भट्टाचार्य (Samujjal Kumar Bhattacharya) ने इस जुलूस का नेतृत्व करते हुए कहा कि राज्य विधेयक को किसी भी रूप में स्वीकार नहीं करेगा.

  • Share this:
गुवाहाटी. असम में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के खिलाफ कई तरह से विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं. कई लोग इस प्रदर्शन में लोग नग्न दिखाई दे रहे हैं तो वहीं कई लोग तलवार लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल (Chief Minister Sarbananda Sonowal) के चबुआ स्थित निवास और गुवाहाटी में वित्त मंत्री हिमंत बिस्व सरमा के घर के बाहर सीएबी विरोधी पोस्टर चिपकाए गए.

ऑल असम स्टूडेंट यूनियन (All Assam Student Union) ने अपने मुख्यालय से मशाल जलाकर जुलुस निकाला और गुवाहाटी की सड़कों पर प्रदर्शन किया. आसू के मुख्य सलाहकार समुज्जल कुमार भट्टाचार्य ने इस जुलूस का नेतृत्व करते हुए कहा कि राज्य विधेयक को किसी भी रूप में स्वीकार नहीं करेगा.

उत्तर पूर्व के मूल निवासियों का कहना है कि बाहर से आकर नागरिकता लेने वाले लोगों से उनकी पहचान और आजीविका को खतरा है. आसू और अन्य संगठन विधेयक के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं.

आल असम मटक स्टूडेंट यूनियन के कार्यकर्ताओं ने रविवार शाम को शिवसागर की सड़कों पर नग्न होकर प्रदर्शन किया. हालांकि पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे मटक समुदाय के लोगों को हिरासत में ले लिया. वहीं नलबारी नगर में असम गण परिषद के तीन मंत्रियों के खिलाफ विभिन्न स्थानों पर पोस्टर चिपकाए गए.

ये भी पढ़ें : लोकसभा में आज पेश होगा नागरिकता (संशोधन) बिल, BJP सांसदों के लिए व्हिप जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 7:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर