लाइव टीवी

नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन: मध्य रेलवे ने की हावड़ा आने-जाने वाली ट्रेनें रद्द

भाषा
Updated: December 14, 2019, 11:53 PM IST
नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन: मध्य रेलवे ने की हावड़ा आने-जाने वाली ट्रेनें रद्द
मध्य रेलवे ने हावड़ा जाने वाली ट्रेनें रद्द कर दी हैं (सांकेतिक फोटो)

नागरिकता कानून (Citizenship Act) के खिलाफ लगातार दूसरे दिन हिंसक प्रदर्शन से पश्चिम बंगाल (West Bengal) में हालात चिंताजनक हैं. जहां कई ट्रेनें एवं रेलवे स्टेशन (Railway Station) और रेल पटरियां आग के हवाले कर दी गईं.

  • भाषा
  • Last Updated: December 14, 2019, 11:53 PM IST
  • Share this:
नागपुर (महाराष्ट्र). मध्य रेलवे (Central Railway) ने नागरिकता (संशोधन) कानून (Citizenship Act) के खिलाफ पश्चिम बंगाल में जारी प्रदर्शन के मद्देनजर हावड़ा (Howrah) आने-जाने वाली कुछ एक्सप्रेस ट्रेनें (Express Train) रद्द कर दी हैं.

नागरिकता कानून (Citizenship Act) के खिलाफ लगातार दूसरे दिन हिंसक प्रदर्शन से पश्चिम बंगाल (West Bengal) में समस्या चल रही है. जहां कई ट्रेनें एवं रेलवे स्टेशन और रेल पटरियां आग के हवाले कर दी गई. बसों में आगजनी की गई और संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया.

16 दिसंबर को नहीं चलेंगीं कई एक्सप्रेस ट्रेनें
मध्य रेलवे के नागपुर डिवीजन (Nagpur Division) द्वारा शनिवार को जारी की गई एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि 16 दिसंबर के लिए हावड़ा-पुणे दुरंतो एक्सप्रेस (Howrah-Pune Duronto Express) को रद्द कर दिया गया. इसके अलावा शनिवार को रद्द की गई अन्य ट्रेनों में हावड़ा-सीएसएमटी गीतांजलि एक्सप्रेस (Howrah-CSMT Gitanjali Express) और शालीमार-एलटीटी एक्सप्रेस (Shalimar-LTT Express) शामिल हैं, जो 16 दिसंबर को अपने निर्धारित गंतव्यों के लिए मुंबई से नहीं चलेंगी.

मध्य रेलवे (Central Railway) ने ट्रेनों को रद्द किए जाने की वजह ट्रेन के डिब्बों (Train Coaches) का अभाव होने को बताया है.

असम में जारी है अब तक का भीषणतम हिंसक प्रदर्शन
असम अपने इतिहास में जनता के भीषणतम हिंसक प्रदर्शनों में से एक से गुजर रहा है. वहां तीन रेलवे स्टेशनों,एक डाकघर, एक बैंक (Bank), एक बैंक टर्मिनस, दुकानों, दर्जनों वाहन और कई अन्य सरकारी संपत्तियां को जला दिया गया या उनमें तोड़फोड़ की गयी.मुर्शिदाबाद जिले के कृष्णपुर स्टेशन पर कई खाली ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया गया. इसके अलावा लालगोला स्टेशन पर रेल पटरियों पर तोड़फोड़ की गई. प्रदर्शनकारियों ने मुर्शिदाबाद (Murshidabad) के सुजनीपारा स्टेशन पर भी तोड़फोड़ की और पड़ोसी मालदा जिले में हरिशचंद्रपुर में रेल पटरियों पर आगजनी की.

प्रदर्शनकारियों ने RPF और रेलकर्मियों की कर दी थी पिटाई
प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा जिले के संकरेल रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ की और इसके टिकट काउंटर में आग लगा दी तथा सिग्नल प्रणाली (Signal System) को क्षतिग्रस्त कर दिया.

रेलवे सुरक्षा बल (Railway Security Force) के एक अधिकारी ने बताया कि जब आरपीएफ (RPF) और रेलकर्मियों ने उन्हें रोकने की कोशिश की तब उनकी पिटाई कर दी गई.

यह भी पढ़ें: गरिकता कानून: असम के सरकारी कर्मचारी 18 दिसंबर को करेंगे काम का बहिष्‍कार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2019, 11:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर