Assembly Banner 2021

पुडुचेरी विधानसभा चुनाव: 324 उम्मीदवारों की किस्मत पर लगा है दांव, जानें पूरा समीकरण

पुडुचेरी विधानसभा चुनाव में 324 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

पुडुचेरी विधानसभा चुनाव में 324 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

Puducherry Assembly Election 2021: एआईएनआरसी नेता एन रंगासामी मुख्य उम्मीदवारों में से शामिल हैं और वह तट्टानचावडी और यानम से चुनाव लड़ रहे हैं. राजग में शामिल एआईएनआरसी यहां 30 में से 16 सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 7:28 PM IST
  • Share this:
पुडुचेरी. पुडुचेरी में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव (Puducherry Assembly Elections) में 324 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. 382 उम्मीदवारों में 58 उम्मीदवारों ने आज अपना नामांकन वापस ले लिया. नाम वापस लेने की यह आखिरी तारीख थी. नाम वापस लेने वाले उम्मीदवारों में से अधिकतर निर्दलीय हैं.

एआईएनआरसी नेता एन रंगासामी मुख्य उम्मीदवारों में से शामिल हैं और वह तट्टानचावडी और यानम से चुनाव लड़ रहे हैं. राजग में शामिल एआईएनआरसी यहां 30 में से 16 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. वहीं भारतीय जनता पार्टी और अन्नाद्रमुक यहां क्रमश: नौ और पांच सीटों पर चुनाव लड़ रही है. वहीं सेक्युलर डेमोक्रेटिक अलायंस (एसडीए) का नेतृत्व कर रही कांग्रेस सबसे ज्यादा 14 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. कांग्रेस को यहां 15 सीटें दी गई है. एक सीट पर वह निर्दलीय उम्मीदवार का समर्थन कर रही है. वहीं एसडीए की घटक द्रमुक 13 सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

पूर्व मुख्यमंत्री वी नारायणसामी चुनाव लड़ रहे
कांग्रेस ने पुडुचेरी विधानसभा चुनावों के लिए उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है. 14 नामों वाली कांग्रेस की इस सूची में केंद्र शासित प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वी नारायणसामी (V Narayansamy) का नाम नहीं है. पुडुचेरी में ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के इंचार्ज दिनेश गुंडु राव ने कहा कि केंद्रशासित प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वी नारायणसामी 2021 विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. वह चुनावी अभियान और चुनाव प्रबंधन की जिम्मेदारी संभालेंगे. बता दें कि पिछले माह कई विधायकों के पार्टी छोड़ने के बाद वी नारायणसामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार अल्पमत में आ गई थी जिसके बाद नारायणसामी विधासभा में फ्लोर टेस्ट पास नहीं कर सके और उन्होंने और उनकी कैबिनेट के मंत्रियों मे उप राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया था.
Youtube Video




ये भी पढ़ें: -पुडुचेरी NDA में बवाल! 1 ही सीट से BJP-AIADMK दोनों के प्रत्याशियों ने भरा पर्चा

पुडुचेरी में लगा हुआ है राष्ट्रपति शासन
मुख्यमंत्री के इस्तीफा देने के बाद किसी ने भी सरकार गठन का दावा पेश नहीं किया. इसके बाद उपराज्यपाल ने पुडुचेरी में विधानसभा भंग करने की सिफारिश की थी, जिसे केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी थी. केंद्रीय मंत्रिमंडल की सिफारिश के बाद पुडुचेरी में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था.

भाजपा की पुड्डुचेरी इकाई के अध्यक्ष वी. समिनाथन ने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) केंद्र शासित प्रदेश में 'मजबूत और एकजुट' है. उन्होंने एक घोषणा पत्र समिति की स्थापना का ऐलान करते हुए पार्टी कार्यालय में कहा कि 'AlNRC, AIADMK और PMK के साथ गठबंधन है. हम मजबूत और एकजुट हैं. मामूली मुद्दों को बातचीत के जरिए सुलझाया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज