अपना शहर चुनें

States

पुलवामा हमले की बरसी पर आतंकी साजिश नाकाम, जम्मू बस स्टैंड से 7 किलो विस्फोटक बरामद

14 फरवरी 2019 को पुलवामा में सेना के काफिले पर हुआ था आतंकी हमला.  
(PTI Photo)
14 फरवरी 2019 को पुलवामा में सेना के काफिले पर हुआ था आतंकी हमला. (PTI Photo)

Pulwama Terror Attack Anniversary: सुरक्षा बलों ने यहां जम्मू में एक बस स्टैंड के पास रविवार को 7 किलोग्राम विस्फोटक बरामद किया है. इतनी बड़ी मात्रा में विस्फोटक के पीछे आतंकियों की कोई बड़ी साजिश का अंदाजा मिलता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 14, 2021, 2:34 PM IST
  • Share this:
जम्मू. जम्मू-कश्मीर में पुलवामा हमले की दूसरी बरसी (Pulwama Terror Attack Anniversary) पर ऐसे ही हमले की आतंकियों की साजिश को सुरक्षाबलों ने नाकाम कर दिया है. सुरक्षा बलों ने यहां जम्मू में एक बस स्टैंड के पास रविवार को 7 किलोग्राम विस्फोटक बरामद किया है. इतनी बड़ी मात्रा में विस्फोटक के पीछे आतंकियों की कोई बड़ी साजिश का अंदाजा मिलता है. हालांकि सुरक्षा बलों की ओर से इस बारे में फिलहाल विस्तृत जानकारी का इंतजार है. वहीं जम्मू जोन के पुलिस महानिदेशक मुकेश सिंह इस संबंध में आज शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके विस्तार से जानकारी देंगे.

सुरक्षा बलों से जुड़े सूत्रों ने बताया कि जम्मू बस अड्डे से 7 किलो विस्फोटक सामग्री के साथ एक संदिग्ध आतंकी को भी गिरफ्तार किया गया है, जो इस विस्फोटक मटेरियल को लेकर बस स्टैंड पहुंचा था. यह विस्फोटक सामग्री एक बैग में रखी गई थी.

पुलिस सूत्रों का कहना है कि जम्मू शहर में आतंकियों ने एक बड़ा हमला प्लान किया था और उनके निशाने पर जम्मू रेलवे स्टेशन जम्मू बस अड्डा और जम्मू शहर का कोई मुख्य बड़ा बाजार था. यहां पर इसका इस्तेमाल किया जाना था.



गौरतलब है कि खुफिया एजेंसियों ने पहले ही एक अलर्ट जारी किया था कि जम्मू में आतंकी बड़ा हमला कर सकते हैं. पुलिस सूत्रों का कहना है कि पकड़ा गया संदिग्ध आतंकी कश्मीर का रहने वाला है और कुछ दिन पहले जम्मू में जो दो आतंकियों की गिरफ्तारी हुई है. उसके तार भी इससे जुड़े हुए हैं और यह सभी मिलकर अलग-अलग समय पर एक बड़ा हमला आज के दिन करने वाले थे.
बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में दो साल पहले आज ही के दिन जैश ए-मोहम्मद के एक फिदायीन आतंकी ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले की दूसरी बरसी के मौके पर सुरक्षाबलों ने पूरे राज्य में सुरक्षा व्यवस्था बेहद सख्त की हुई थी और उसी का नतीजा है कि आतंकियों की ये साजिश नाकाम हो गई.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित देश के तमाम नेताओं दो साल पहले पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चेन्नई में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि कोई भारतीय इनके बलिदान को कभी नहीं भूल सकता. हमें अपने सुरक्षाबलों पर गर्व है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज