अब सभी ट्रेनें चलेंगी बिल्कुल समय से, इसके लिए ISRO की मदद ले रहा है भारतीय रेलवे

भारतीय रेलवे ISRO की मदद से यात्रियों को समय से उनके गंतव्य तक पहुंचाने वाला है. इसके अलावा रेलवे, यात्रियों का बड़े स्टेशनों पर जबरदस्त स्पीड वाला वाई-फाई भी देगा. इस बड़े प्लान को इसी साल सितंबर तक पूरा कर लिए जाने की उम्मीद है.

News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 5:04 PM IST
अब सभी ट्रेनें चलेंगी बिल्कुल समय से, इसके लिए ISRO की मदद ले रहा है भारतीय रेलवे
समय से ट्रेनें चलाने के लिए ISRO की मदद लेगा भारतीय रेलवे (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 5:04 PM IST
भारतीय रेलवे इसरो के साथ मिलकर यात्रियों को वक्त से उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए नई टेक्नोलॉजी पर काम कर रहा है. इसरो की तकनीक का इस्तेमाल वह ट्रेनों की रियल टाइम ट्रैकिंग के लिए भी करेगा. रेलवे ने अपने नए तीन स्तरीय उपायों को अलग-अलग प्रोजेक्ट्स के जरिए लागू करने का फैसला किया है. भारतीय रेलवे अपने इस प्लान में ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम यानि जीपीएस, इसरो की सैटेलाइट, सीसीटीवी और वाई-फाई जैसी तकनीकों का जल्द ही बड़े स्तर पर इस्तेमाल शुरू करने वाला है ताकि यात्रियों को बेहतरीन तकनीक वाला आरामदेह माहौल और सुरक्षित माहौल दे पाने में रेलवे सफल हो सके.

अब भारतीय रेलवे ने यात्रियों को समय से उनके गंतव्य तक पहुंचाने की बात ठान ली है और इसके लिए वह सहारा लेने वाला है ISRO का. इसके अलावा यात्रियों का बड़े स्टेशनों पर जबरदस्त स्पीड वाला वाई-फाई भी मिलेगा. इस बड़े प्लान को इसी साल सितंबर तक पूरा कर लिए जाने की उम्मीद है. ये हैं रेलवे के महत्वाकांक्षी तीन स्तरीय प्लान-

सारी ट्रेनों में लगेगी जीपीएस तकनीक
भारतीय रेलवे की सभी ट्रेनों में इस साल के अंत तक जीपीएस तकनीक लगा दी जाएगी ताकि उनकी रियल टाइम ट्रैकिंग की जा सके. भारतीय रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने यह बात समाचार एजेंसी पीटीआई को बताई है. उन्होंने कहा है कि यह कदम रियल टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम (RTIS) का ही हिस्सा होगा.

ट्रेनों को समय से चलाने के लिए रेलवे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान (ISRO) की भी मदद ले रहा है. यादव ने कहा है कि ISRO की सैटेलाइट्स के जरिए ट्रेनों की स्थिति और स्पीड की जांच की जाएगी. यह जांच भारतीय रेलवे की रेलवेज कंट्रोल ऑफिस एप्लीकेशन (COA) सिस्टम इन सैटेलाइट्स की मदद से करेगा. यह ट्रेनों के कंट्रोल चार्ट की ऑटोमैटिक प्लॉटिंग के लिए प्रयोग की जाएंगीं.

रेलवे स्टेशन पर ही नहीं बल्कि मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में भी लगेंगे सीसीटीवी
यात्रियों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए भारतीय रेलवे ने सारे जंक्शन और बड़े स्टेशनों के साथ ही सभी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में भी सीसीटीवी लगाने का फैसला किया है.
Loading...

सभी मुख्य स्टेशनों पर रेलवे लगाएगा तेज स्पीड वाला वाई-फाई
भारतीय रेलवे ने यात्रियों के लिए सभी बड़े रेलवे स्टेशनों पर तेज स्पीड वाला वाई-फाई देने का फैसला किया है. बड़े स्तर पर चल रहे इस काम के इसी साल सितंबर के आखिरी तक पूरा हो जाने की आशा है. भारतीय रेलवे ने अपनी मूलभूत सेवाओं के विस्तार का फैसला भी किया है. यादव ने बताया, पिछले 25 से 30 सालों में रेल से यात्रा करने वाले लोगों की संख्या में जबरदस्त बढ़ोत्तरी देखी गई है.

बजट, 2019 में मोदी सरकार ने भारतीय रेलवे को अपनी प्रमुख प्राथमिकताओं में रखा है. यात्रियों की सुरक्षा, रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण, रेल की यात्रा के अनुभव को आरामदेह बनाना और रेलवे के कुछ खास मामलों में क्षमता विकास पर जोर दिया जा रहा है. रेलवे यात्रियों के डिजिटल एक्सपीरियंस को बेहतर करने के लिए भारतीय रेलवे ने 4,882 रेलवे स्टेशनों पर 31 अगस्त, 2019 तक फ्री वाई-फाई की सुविधा देने का फैसला किया था. भारतीय रेलवे ने सीसीटीवी कैमरे लगाने की योजना के भी 2020-21 तक पूरे हो जाने की बात कही है.

यह भी पढ़ें: रेलवे की मुहिम, ग्राहकों को साफ पानी देने के लिए बनाया प्लान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 15, 2019, 5:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...