होम /न्यूज /राष्ट्र /

खुद को कर्नल बताकर ऑटो ड्राइवर ने लाखों रुपए ठगे, सेना में नौकरी के नाम पर ऐसे लगाई चपत

खुद को कर्नल बताकर ऑटो ड्राइवर ने लाखों रुपए ठगे, सेना में नौकरी के नाम पर ऐसे लगाई चपत

सेना में नौकरी दिलाने के नाम पर कई लोगों के साथ ठगी (फाइल फोटो)

सेना में नौकरी दिलाने के नाम पर कई लोगों के साथ ठगी (फाइल फोटो)

Cheating Case: इस ऑटोरिक्शा चालक ने खुद को कर्नल बताकर सेना में नौकरियों के नाम पर कई उम्मीदवारों से कथित तौर पर लाखों रुपये की ठगी की थी. पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी संजय सावंत को पुणे पुलिस की अपराध शाखा और सैन्य खुफिया के संयुक्त अभियान में गिरफ्तार किया गया. उसे पंजाब में पठानकोट पुलिस को सौंप दिया गया है, जहां उसके खिलाफ धोखाधड़ी का एक मामला दर्ज है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

आरोपी ड्राइवर को पठानकोट पुलिस को सौंपा गया
पठानकोट से गिरफ्तार करने के लिए पुणे आई थी पुलिस

पुणे: पुणे पुलिस ने 55-वर्षीय एक ऑटोरिक्शा चालक को गिरफ्तार किया है, जिसने खुद को कर्नल बताकर सेना में नौकरियों के नाम पर कई उम्मीदवारों से कथित तौर पर लाखों रुपये की ठगी की थी. पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी. एक अधिकारी ने यहां बताया कि आरोपी संजय सावंत को पुणे पुलिस की अपराध शाखा और सैन्य खुफिया (एमआई) के संयुक्त अभियान में गिरफ्तार किया गया. उसे पंजाब में पठानकोट पुलिस को सौंप दिया गया है, जहां उसके खिलाफ धोखाधड़ी का एक मामला दर्ज है.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि सावंत ने 30 साल तक पुणे के देहू रोड स्थित केंद्रीय आयुध डिपो (सीओडी) में मजदूर के रूप में काम किया था और उसके बाद वह ऑटोरिक्शा चलाने लगा था. उन्होंने बताया कि पठानकोट में उसके खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया था. पठानकोट पुलिस की एक टीम उसे गिरफ्तार करने के लिए पुणे भी आई थी.

बता दें कि इससे पहले भी सेना और सरकारी नौकरी में भर्ती के नाम पर कई बेरोजगार युवाओं को ठगने वाले आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं. हैरानी की बात है कि इन घटनाओं से भी लोगों ने सबक नहीं लिया कि, किसी अनजान शख्स को पैसे देकर नौकरी पाना महज एक धोखे के सिवाय कुछ नहीं है. क्योंकि सरकारी नौकरी एक उचित भर्ती प्रक्रिया के तहत होती है, जिसमें लिखित परीक्षा और इंटरव्यू शामिल है.

Tags: Army Recruitment Cheated, Maharastra news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर