लाइव टीवी

पंजाब विधानसभा: सत्र के दूसरे दिन भी हंगामा, स्पीकर पर फेंके कागज के बंडल और कॉपियां

मोहित मल्होत्रा | News18Hindi
Updated: June 15, 2017, 10:49 PM IST
पंजाब विधानसभा: सत्र के दूसरे दिन भी हंगामा, स्पीकर पर फेंके कागज के बंडल और कॉपियां
सीएम अमरिंदर सिंह

पंजाब विधानसभा के बजट सत्र का दूसरा दिन भी बेहद ही हंगामेदार रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 15, 2017, 10:49 PM IST
  • Share this:
पंजाब विधानसभा के बजट सत्र का दूसरा दिन भी काफी हंगामेदार रहा. सदन के अंदर कांग्रेस सरकार को विपक्षी पार्टियों अकाली दल और आम आदमी पार्टी के विरोध का सामना  करना पड़ा.

विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही अकाली दल के विधायक सदन में किसानों की कर्जमाफी और आत्महत्या के मुद्दे पर पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. उनका कहना था कि किसानों के कर्ज माफी का जो वादा कांग्रेस ने सत्ता में आने से पहले किया था. उस वादे को पूरा किया जाए.

साथ ही अकाली दल के विधायकों ने आरोप लगाया कि सरकार एक तरफ तो कह रही है कि किसानों की जमीन की कुर्की नहीं की जाएगी. वहीं दूसरी तरफ बैंकों की तरफ से किसानों को जमीनों के कुर्की की नोटिस भेजे जा रहे हैं.

किसानों के मुद्दे पर अकाली दल ने विधानसभा से तीन बार वॉकआउट किया और सदन के अंदर जमकर नारेबाजी की. अभी माहौल शांत हुआ भी नहीं था कि अकाली दल ने कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर उन्हें सदन के अंदर गाली देने का आरोप लगाया. इसके बाद एक बार फिर से जमकर हंगामा शुरू हो गया.



हालांकि नवजोत सिंह सिद्धू ने अकाली दल के गाली देने के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि मैंने सदन में बस इतना ही कहा कि अब चोर भी शोर मचा रहे हैं. इस बात का अकाली दल के पास कोई जवाब नहीं था. तो वो मनगढ़त बात कर रहे हैं कि मैंने सदन में उनके विधायकों को गाली दी.

वहीं पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी नवजोत सिद्धू का बचाव किया और कहा कि नवजोत सिद्धू ने किसी भी तरह की कोई गाली सदन के अंदर नहीं दी है.

पंजाब विधानसभा में कांग्रेस सरकार की मुश्किल सिर्फ अकाली दल ने ही नहीं बढ़ाई, बल्कि आम आदमी पार्टी के विधायक भी काफी एग्रेसिव मूड में दिखाई दिए. पंजाब में खानों की नीलामी में धांधली, किसानों की आत्महत्या और कर्ज के मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव लाने की मांग आम आदमी पार्टी की तरफ से की गई.

'आप' विधायकों ने मचाया बवाल

जब स्पीकर ने इस मांग को मानने से इनकार कर दिया. तो आम आदमी पार्टी के विधायकों ने वेल के पास इकट्ठे होकर पहले वहां पर तैनात किए गए मार्शलों के साथ धक्का-मुक्की की. उसके बाद स्पीकर के ऊपर कागज के बंडल और कॉपियां फेंकने लगे.

आम आदमी पार्टी का आरोप था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह नहीं चाहते कि सदन में इस तरह के मुद्दों पर कोई भी बहस हो. स्पीकर उन के दबाव में आम आदमी पार्टी के स्थगन प्रस्ताव पर बहस करवाने के लिए तैयार नहीं हो रहे हैं.

सदन में आम आदमी पार्टी के विधायकों के द्वारा स्पीकर पर कागज के बंडल और कॉपियां फेंके जाने पर पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने आम आदमी पार्टी की इस हरकत को मर्यादाहीन करार दिया. साथ ही सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि आम आदमी पार्टी सिर्फ अपनी सियासत चमकाने के लिए विधानसभा के काम को प्रभावित कर रही है.

पहले से ही आशंका थी कि पंजाब विधानसभा का बजट सत्र काफी हंगामेदार रहने वाला है. विपक्षी दलों अकाली दल और आम आदमी पार्टी ने पहले ही साफ कर दिया था कि अगर किसानों के कर्जमाफी और आत्महत्या के मुद्दे पर सरकार ने सदन में बहस ना करवाई, और कोई गंभीर कदम नहीं उठाए. तो ऐसे में विधानसभा की कार्यवाही नहीं चलने दी जाएगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 15, 2017, 10:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर