Home /News /nation /

Punjab Assembly Election 2022: चुनाव में डेरा सच्चा सौदा की एंट्री! क्या बदल जाएगी राज्य की सियासत?

Punjab Assembly Election 2022: चुनाव में डेरा सच्चा सौदा की एंट्री! क्या बदल जाएगी राज्य की सियासत?

पंजाब में बठिंडा को डेरा सच्चा सौदा का गढ़ माना जाता है.

पंजाब में बठिंडा को डेरा सच्चा सौदा का गढ़ माना जाता है.

Punjab Assembly Election 2022: 2017 विधानसभा चुनाव (2017 Assembly Elections) के दौरान शायद ही कोई नेता हो जो अपनी पार्टी के लिए समर्थन जुटाने के लिए इन डेरों में न पहुंचा हो. 2016 में राहुल गांधी डेरा ब्यास पहुंचे थे और उन्होंने वहां करीब 19 घंटे बिताए थे. 2016 में ही पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने डेरा ब्यास में सोलर प्लांट का उद्घाटन किया था.

अधिक पढ़ें ...

    चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) में रविवार को संगरूर, बठिंडा (Bathinda) और फरीदकोट जिलों में डेरा सच्चा सौदा (Dera Sacha Sauda) के संस्थापक प्रमुख शाह मस्ताना जी का जन्मदिन मनाने के लिए हजारों की संख्या में उमड़ी डेरा प्रेमियों की भीड़ ने एकाएक राजनीतिक दलों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया. दि ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले कुछ साल से राजनीतिक गलियारों में अनदेखी को लेकर डेरा प्रेमी काफी गुस्से में भी दिखे. आपको बताते हैं कि पंजाब की सियासत में डेरे आखिरी वक्त में गेमचेंजर साबित होते हैं.

    हालांकि इन डेरों के प्रमुख सीधे तौर पर अपने अनुयायियों को किसी राजनीतिक दल को समर्थन देने के लिए नहीं कहते हैं, लेकिन मतदान से एक दिन पहले किया गया इशारा सियासी फेरबदल में अपनी भूमिका निभा जाता है. एक रिपोर्ट के मुताबिक पंजाब में करीब 9 हजार सिख और करीब 12 हजार गैर सिख डेरे हैं. इन डेरों के करोड़ों प्रेमी देश भर में और विदेशों में फैले हुए हैं. डेरा सच्चा सौदा की बात करें तो यह कहा जाता है कि पंजाब 13 जिलों में करीब 35 लाख डेरा प्रेमी हैं, जबकि देश भर में इनकी संख्या करीब 2 करोड़ बताई जाती है. पंजाब में बठिंडा को डेरा सच्चा सौदा का गढ़ माना जाता है.

    यह भी पढ़ें: Exclusive: सुखबीर बादल बोले, सिद्धू कांग्रेस के लिए चुनौती हैं हमारे लिए नहीं; NDA में जाने को लेकर कही ये बात

    अन्य डेरों का जिलों में कितना प्रभाव
    पटियाला – राधा स्वामी सत्संग ब्यास और निरंकारी समुदाय
    मुक्तसर – दिव्य ज्योति जागृति संस्थान, डेरा सच्चा सौदा  राधा स्वामी सत्संग ब्यास
    नवांशहर – दिव्य ज्योति जागृति संस्थान, गरीब दासी संप्रदाय से संबंधित डेरे
    कपूरथला – दिव्य ज्योति जागृति संस्थान, राधा स्वामी सत्संग ब्यास और निरंकारी समुदाय
    अमृतसर – राधा स्वामी सत्संग ब्यास और निरंकारी समुदाय
    जालंधर – दिव्य ज्योति जागृति संस्थान, डेरा सचखंड रायपुर बल्लां और निरंकारी समुदाय
    पठानकोट – डेरा जगत गिरी आश्रम
    रोपड़ – बाबा हरनाम सिंह खालसा (धुम्मा) का डेरा, बाबा प्यारा सिंह भनियारां वाले के डेरों का प्रभाव
    तरनतारन – दिव्य ज्योति जागृति संस्थान

    2017 विधानसभा चुनाव के दौरान शायद ही कोई नेता हो जो अपनी पार्टी के लिए समर्थन जुटाने के लिए इन डेरों में न पहुंचा हो. 2016 में राहुल गांधी डेरा ब्यास पहुंचे थे और उन्होंने वहां करीब 19 घंटे बिताए थे. 2016 में ही पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने डेरा ब्यास में सोलर प्लांट का उद्घाटन किया था. मई 2016 में ही पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर बादल, पंजाब कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल संत ढढरियांवाले पर हुए अटैक के बाद उनसे मिलने के लिए पटियाला में उनके डेरे पर पहुंच गए थे क्योंकि 2017 में विधानसभा चुनाव थे.

    सितंबर 2016 को शिक्षा मंत्री परगट सिंह और लोक इंसाफ पार्टी के बैंस बंधुओं ने डेरा ब्यास से चुनाव समर्थन के लिए बातचीत की थी. 2017 के चुनाव से करीब पांच महीने पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह डेरा ब्यास गए थे. सितंबर 2016 को केजरीवाल ने डेरा ब्यास के प्रमुख से मुलाकात की थी.

    यहां उल्लेखनीय है कि राम रहीम के बेअदबी के मामलों के चलते लगभग सभी राजनीतिक दलों ने डेरा सच्चा सौदा से किनारा कर लिया था, क्योंकि मामले में डेरा प्रेमियों के संलिप्त होने के आरोप थे, लेकिन रविवार को  डेरा सच्चा सौदा के संस्थापक प्रमुख शाह मस्ताना का जन्म दिवस मनाने जुटे इन डेरा प्रेमियों की भीड़ ने यह भी बताने की कोशिश की कि अभी भी उनकी संख्या कम नहीं है और वह एकजुट हैं.

    दि ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक  संगरूर-पटियाला रोड स्थित नाम चर्चा घर में कार्यक्रम की जानकारी मिलने के बाद कई नेताओं ने अपने स्टाफ को सभा की जांच के लिए भेजा. साफ जाहिर है कि चुनावी साल में एक बार फिर डेरा प्रेमी केंद्र बिंदु में आ गए हैं.

    Tags: Arvind kejriwal, Assembly elections, Dera Sacha Sauda, Punjab Assembly Election 2022, Punjab elections, Rahul gandhi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर