अपना शहर चुनें

States

Punjab Election Results 2021: पंजाब निकाय चुनाव के नतीजे कल, किसान आंदोलन से बढ़ी AAP-कांग्रेस की उम्मीद

राज्य में 14 फरवरी को 117 स्थानीय निकायों पर चुनाव हुए थे. जिसमें से 109 नगरपालिका परिषद और नगर पंचायत हैं. वहीं, 8 नगर निगम शामिल हैं. (फाइल फोटो)
राज्य में 14 फरवरी को 117 स्थानीय निकायों पर चुनाव हुए थे. जिसमें से 109 नगरपालिका परिषद और नगर पंचायत हैं. वहीं, 8 नगर निगम शामिल हैं. (फाइल फोटो)

Punjab Municipal Election राज्य चुनाव आयोग (Election Commission) ने प्रक्रिया को पूरा कराने के लिए 145 रिटर्निंग अधिकारी और 145 असिस्टेंट रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त किए हैं. शहरी स्थानीय निकाय चुनाव में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 16, 2021, 12:49 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब निकाय चुनाव (Punjab Election) में मतदान प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. 17 जनवरी यानि बुधवार को मतगणना के बाद नतीजे घोषित हो जाएंगे. इस चुनाव में राज्य की दो प्रमुख पार्टियां भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस (Congress) आमने-सामने है. वहीं, मुख्य विपक्षी दल की भूमिका निभा रही आम आदमी पार्टी (AAP) भी सियासी मैदान में है. इस चुनाव में कुल 9 हजार 222 उम्मीदवार शामिल हुए थे. बीते रविवार को वोट डाले गए थे.

यहां समझिए चुनाव का गणित
राज्य में 14 फरवरी को 117 स्थानीय निकायों पर चुनाव हुए थे. जिसमें से 109 नगरपालिका परिषद और नगर पंचायत हैं. वहीं, 8 नगर निगम शामिल हैं. अधिकारियों ने जानकारी दी है कि इस दौरान कुल 9 हजार 222 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था. जिसमें से 2 हजार 832 उम्मीदवार निर्दलीय, 2 हजार 37 कांग्रेस, 1 हजार 606 आम आदमी पार्टी, 1 हजार 569 शिरोमणि अकाली दल और 1 हजार 3 भारतीय जनता पार्टी से थे.

चुनावी रण की 8 नगर निगमों में अबोहर, बठिंडा, बाटला, कपूरथला, मोहाली, होशियारपुर, पठानकोट और मोगा का नाम शामिल है. खास बात है कि ग्राम पंचायत के चुनावों में पार्टी चिह्न शामिल नहीं होते हैं. यहां राजनीतिक दल या स्थानीय नेता पैनल तय करते हैं. राज्य चुनाव आयोग ने प्रक्रिया को पूरा कराने के लिए 145 रिटर्निंग अधिकारी और 145 असिस्टेंट रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त किए हैं.
यह भी पढ़ें: पंजाब: मोगा में 2 अकाली कार्यकर्ताओं की मौत, 9 कांग्रेसियों के खिलाफ FIR, 3 गिरफ्तार



सरकार के आदेश के अनुसार शहरी स्थानीय निकाय चुनाव में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है. निकाय चुनाव के लिए कुल 39 लाख 15 हजार 280 रजिस्टर्ड मतदाता हैं. जिनमें से 20 लाख 49 हजार 777 पुरुष और 18 लाख 65 हजार 354 महिलाएं हैं. म्युनिसिपल चुनाव के लिए 149 मतदाता भी शामिल हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कृषि कानूनों और किसान आंदोलन के चलते आप और कांग्रेस ने बेहतर प्रदर्शन का अनुमान लगाया है.

हिंसा भी रही शामिल
प्रचार से लेकर नामांकन प्रक्रिया तक हिंसा के कई मामले सामने आए. दो बड़ी घटनाओं में शिअद और कांग्रेस आमने-सामने थीं. जलालाबाद में शिअद के सुखबीर सिंह बादल की गाड़ी पर हमला हो गया था. उनकी गाड़ी पर उपद्रवियों ने पत्थर बरसाए थे. पार्टी ने हमले का आरोप कांग्रेस पर लगाया था। इसके बाद मोगा जिले में प्रचार के दौरान भी कांग्रेस और शिअद कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए थे. इस झगड़े में 2 अकाली कार्यकर्ताओं की मौत हो गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज