• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • सिद्धू को अध्यक्ष बनाने की खबरों पर कैप्टन हुए नाराज, बैठकों का दौर जारी

सिद्धू को अध्यक्ष बनाने की खबरों पर कैप्टन हुए नाराज, बैठकों का दौर जारी

पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच तनाव चल रहा है.

पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच तनाव चल रहा है.

Punjab Politics: नवजोत सिंह सिद्धू की बैठक के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी अपने मोहाली के सिसवां स्थित फॉर्म हाउस पर अपने करीबी विधायकों, मंत्रियों और सांसदों के साथ बैठक कर रहे हैं.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष (Punjab Congress President) के तौर पर ताजपोशी की खबर के बाद से घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है. बताया जा रहा है कि कांग्रेस में जारी कशमकश के बीच सिद्धू अपने समर्थक विधायक और मंत्रियों के साथ बैठक कर रहे हैं. खबरों के मुताबिक सिद्धू पूरी तैयारी कर लेना चाहते हैं. अगर कैप्टन के दबाव में अगर आलाकमान सिद् पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष का पद नहीं देगा तो वह आगे की रणनीति के लिए यह बैठक कर रहे हैं. नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) चंडीगढ़ में 5 मंत्रियों और करीब 10 विधायकों के साथ ये बैठक कर रहे हैं. चंडीगढ़ के सेक्टर 39 स्थित पंजाब के कैबिनेट मंत्री और कैप्टन विरोधी सुखजिंदर सिंह रंधावा पर यह बैठक हो रही.

    सूत्रों के मुताबिक अगर कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) के दबाव में नवजोत सिंह सिद्धू को आलाकमान पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष का पद नहीं देता है तो ऐसे में आगे की रणनीति तय की जा रही है. नवजोत सिंह सिद्धू भी खुद चंडीगढ़ में जारी इस बैठक में शामिल हैं.

    नवजोत सिंह सिद्धू की बैठक के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी अपने मोहाली के सिसवां स्थित फॉर्म हाउस पर अपने करीबी विधायकों, मंत्रियों और सांसदों के साथ बैठक की. मुख्यमंत्री ने सुंदर श्याम अरोड़ा, अरुणा चौधरी, गुरजीत औजला, फतेह बजवा, पंकज कपाही समेत करीब 25 विधायकों के साथ यह बैठक की. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आलाकमान को सिद्धू के अध्यक्ष बनाए जाने की खबरों को लेकर नाराजगी जता दी है.

    ये भी पढ़ें- क्या दिल्ली में भी खुलेंगे स्कूल? CM केजरीवाल ने दिया ये जवाब

    हरीश रावत ने दिए ये संकेत
    इससे पहले कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने पार्टी की पंजाब इकाई में चल रही कलह के जल्द खत्म होने का संकेत देते हुए गुरुवार को कहा कि इस संकट के समाधान के लिए फार्मूला जल्द सामने आएगा और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह एवं पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू साथ काम करेंगे.

    पार्टी के पंजाब प्रभारी रावत ने यह भी कहा कि अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री के तौर पर काम करते रहेंगे और उनके इस पद पर रहते हुए कांग्रेस चुनाव में उतरेगी. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम एक ऐसे फार्मूले पर काम कर रहे हैं जिससे मुख्यमंत्री और सिद्धू दोनों मिलकर काम करें.’’

    सूत्रों का कहना है कि सिद्धू को प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाया जा सकता है और उनके साथ एक दलित और एक हिंदू नेता को कार्यकारी अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी जा सकती है ताकि सियासी संकट को खत्म करने के साथ जातीय एवं क्षेत्रीय समीकरण को भी साधा जा सके. (चमन पलानिया के इनपुट सहित)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज