Home /News /nation /

punjab extreme heat increases power consumption by 65 per cent crisis on coal stocks

पंजाब: भीषण गर्मी से बिजली की खपत 65 फीसदी बढ़ी, कोयले के स्टॉक पर भी संकट

पंजाब में बिजली की खपत बढ़ी (सांकेतिक तस्वीर)

पंजाब में बिजली की खपत बढ़ी (सांकेतिक तस्वीर)

Punjab Coal Crisis: पंजाब के शहरी क्षेत्रों में लगातार बढ़ रहे तापमान के कारण घरेलू बिजली की मांग बढ़ी है. पिछले साल की तुलना में राज्य में बिजली की मांग में 65 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है.

चंडीगढ़. इस साल तापमान में लगातार हो रही बढ़ोतरी से राज्य के शहरी क्षेत्रों में घरेलू बिजली की मांग बढ़ी है. पिछले साल की तुलना में पंजाब में बिजली की मांग में 65 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है, जबकि पंजाब स्टेट पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (पीएसपीसीएल) ने इस साल घरेलू शहरी उपभोक्ताओं को 70 प्रतिशत अधिक बिजली की आपूर्ति की है. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक पीएसपीसीएल ने शहरी घरेलू क्षेत्र को मई के महीने में पिछले साल की तुलना में लगभग 60-70 फीसदी अधिक बिजली की आपूर्ति की है.

इसी तरह वाणिज्यिक क्षेत्र के उपभोक्ताओं में 55-65 फीसदी की वृद्धि देखी गई है और ग्रामीण उपभोक्ताओं ने इस महीने अब तक आपूर्ति की गई बिजली में 30-35 फीसदी की वृद्धि देखी है. पीएसपीसीएल के अधिकारियों ने दावा किया कि राज्य बिजली निगम उपभोक्ताओं की सभी श्रेणियों की मांग को पूरा कर रहा है, लेकिन असाधारण मांग के कारण थर्मल में कोयले का स्टॉक नहीं बन रहा है. उन्होंने कहा कि थर्मल के लिए अधिक से अधिक संभव कोयला प्राप्त करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

कृषि उपभोक्ताओं की बढ़ी मांग 
हालांकि कृषि पंपसेट (AP) उपभोक्ताओं को इस साल 1 से 12 मई तक लगभग 25-30 फीसदी अधिक बिजली की आपूर्ति की गई, जबकि औद्योगिक क्षेत्र के उपभोक्ताओं को 5-11% अधिक बिजली की आपूर्ति की गई है. इस साल 10, 11 और 12 मई को पंजाब में क्रमश: 1,0401 मेगावाट, 10,063 मेगावाट और 10,495 मेगावाट बिजली की मांग देखी गई, जबकि पिछले साल इसी अवधि में राज्य में 10 से 12 मई तक क्रमशः 6,640 मेगावाट, 6,545 मेगावाट और 6,374 मेगावाट बिजली की मांग हुई थी.

राज्य बिजली उपयोगिता ने इस महीने राज्य भर में अपने विभिन्न श्रेणी के उपभोक्ताओं को लगभग 41 फीसदी से अधिक बिजली की आपूर्ति की है. पिछले साल 1 मई से 12 मई तक PSPCLने 1,762 MU बिजली की आपूर्ति की जबकि इस साल उसने 1 से 12 मई तक अपने उपभोक्ताओं को लगभग 2,483 MU बिजली की आपूर्ति की थी. विशेष रूप से मार्च और अप्रैल के महीने में राज्य बिजली उपयोगिता ने राज्य भर में अपने उपभोक्ताओं को पिछले साल की तुलना में लगभग 14 और 32 फीसदी अधिक बिजली की आपूर्ति की.

पढ़ें – मोहाली हमला : ISI की मदद से बब्बर खालसा और गैंगस्टर लखविंदर ने दागा रॉकेट, पुलिस ने किया खुलासा

उपभोक्ताओं से अपील
पूरे देश में कोयले की कमी और मांग में लगातार वृद्धि को देखते हुए पीएसपीसीएल ने राज्य भर के अपने उपभोक्ताओं से अपील की है कि जब तक आवश्यक न हो, तो एयर कंडीशनर, लाइट, उपकरण, घरेलू और कृषि पंपसेट बंद कर दें और एसी की तापमान सेटिंग 26 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रखें. फर्म ने यह भी अपील की है कि कृषि पंपसेट और औद्योगिक भार की मोटरों पर पर्याप्त क्षमता के शंट कैपेसिटर लगाए जाएं.

Tags: Electricity, Punjab

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर