अपना शहर चुनें

States

अमृतसर हादसा : नवजोत सिंह सिद्धू ने किया पत्नी का बचाव, बोले- हादसे पर न करें राजनीति

पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की फाइल फोटो- PTI
पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की फाइल फोटो- PTI

पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, 'अगर कोई यह सोचे कि यह जानबूझकर किया गया या उकसाने पर किया गया तो यह गलत है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2018, 6:29 AM IST
  • Share this:
पंजाब स्थित अमृतसर में रावण दहन के दौरान हुए हादसे पर राज्य सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिंद्धू ने टिप्पणी की है. CNN-News18 से खास बातचीत में सिद्धू ने कहा, 'यह समय उंगलियां उठाने का नहीं है. किसी ने यह सोच समझ कर जानबूझ कर नहीं किया है. यह कुदरत का प्रकोप है.'

सिद्धू ने कहा, 'अगर कोई यह सोचे कि यह जानबूझकर किया गया या उकसाने पर किया गया तो यह गलत है.' पत्नी नवजोत कौर का बचाव करते हुए सिद्धू ने कहा, 'जब दुर्घटना होती है तो किसी को बताकर नहीं होती. लोग जो बात कर रहे हैं वह राजनीतिक बातें कर रहे हैं. राजनीतिक रोटियां नहीं सेंकनी चाहिए.'

यह भी पढ़ें:  अमृतसर हादसा: रेलवे ने कहा- नहीं थी कार्यक्रम की जानकारी, न ही दी कोई परमिशन



सिद्धू ने कहा कि इस घटना पर आरोप-प्रत्यारोप का खेल नहीं खेला जा सकता. उन्होंने कहा कि रावण दहन होता आजकल बटन से होता है जिससे आग तेजी से लगती है. इस दौरान जब आतिशबाजी गलत दिशा में जाती है तो लोग पीछे हटते हैं. इसी दौरान वहां मौजूद लोगों को पता नहीं चला होगा.
यह भी पढ़ें: अमृतसर हादसा: रेलवे को जिम्मेदार ठहराना गलत, नहीं मिली थी कोई सूचना- अश्वनी लोहानी

कार्यक्रम कराए जाने संबंधी अनुमति से जुड़े सवाल पर सिद्धू ने कहा कि यह रावण दहन पिछले पचास सालों से हो रहा है. अमृतसर में कई जगहों पर रावण दहन होता है. मुख्यमंत्री ने इस घटना पर जांच के आदेश दिए हैं. हमें दुख बांटना चाहिए. इस पर राजनीति गलत है.

यह भी पढ़ें: अमृतसर रेल हादसा : घटना स्थल पर लगा यह पोस्टर बना चर्चा का विषय

बता दें अमृतसर के निकट शुक्रवार शाम रावण दहन देखने के लिए रेल पटरियों पर खड़े लोगों के ट्रेन की चपेट में आने से कम से कम 60 लोगों की मौत हो गई जबकि 72 अन्य घायल हो गए. ट्रेन जालंधर से अमृतसर आ रही थी तभी जोड़ा फाटक पर यह हादसा हुआ. मौके पर कम से कम 300 लोग मौजूद थे जो पटरियों के निकट एक मैदान में रावण दहन देख रहे थे.

अधिकारियों ने बताया कि मृतकों की संख्या बढ़कर 60 हो गयी है. इससे पहले अमृतसर के प्रथम उपमंडलीय मजिस्ट्रेट राजेश शर्मा ने 58 लोगों की मौत की पुष्टि की थी. उन्होंने कहा था कि कम से कम 72 घायलों को अमृतसर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

यह भी पढ़ें: अमृतसर में हुए हादसे के दौरान लोग ट्रैक से ले रहे थे सेल्फी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज