होम /न्यूज /राष्ट्र /Farmers Protest: 'दिल्ली मार्च' पर राशन-बिस्तर लेकर निकले किसान, सीमाएं सील, भारी संख्या में जवान तैनात- 10 अपडेट्स

Farmers Protest: 'दिल्ली मार्च' पर राशन-बिस्तर लेकर निकले किसान, सीमाएं सील, भारी संख्या में जवान तैनात- 10 अपडेट्स

दिल्ली सीमा पर पुलिस ने चौकसी बढ़ा दी है.

दिल्ली सीमा पर पुलिस ने चौकसी बढ़ा दी है.

Farmers Delhi Chalo March: किसानों की मंशा है कि वे या तो ट्रैक्टर में ही रात गुजारेंगे या फिर नेशनल हाईवे के किनारे बन ...अधिक पढ़ें

    Farmers Protest in Delhi: केंद्र सरकार के कृषि कानून (Farms Act 2020) का विरोध करते हुए पंजाब और हरियाणा के किसान आज से दिल्ली में महाधरना (Farmers Protest) देने जा रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, 'दिल्ली मार्च' के लिए निकले किसान खाने-पीने के सामान और कपड़े लेकर आ रहे हैं. किसानों की मंशा है कि वे या तो ट्रैक्टर में रात गुजारेंगे या फिर नेशनल हाईवे के किनारे बनें कैंपों में ठहरेंगे. ऐसे में दिल्ली सीमा पर पुलिस ने चौकसी बढ़ा दी है. इसके साथ ही फरीदाबाद और पलवल में भारी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है. सरकार ने अपील की है कि दो दिन तक दिल्ली बॉर्डर की तरफ जाने से बचें.

    पंजाब के किसानों के दिल्ली कूच (Farmers Protest) को देखते हुए हरियाणा सरकार अलर्ट हो गई है. सरकार ने पंजाब और दिल्ली से लगती राज्य की सीमा पर पुलिस की सख्ती बढ़ा दी गई है. पंजाब के किसान हरियाणा बॉर्डर पर पहुंचे हैं. किसान कई दिनों का राशन जैसे सब्जियां, वाटर टैंकर, लकड़ियां और साथ ही खाना बनाने वाले कई लोगों को लेकर साथ में आए हैं.

    " isDesktop="true" id="3352804" >
    पढ़ें अभी तक के 10 बड़े अपडेट्स:-

    किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए हरियाणा ने पंजाब से लगती सीमा को सील कर दिया है. अंबाला में किसानों पर पानी की बौछार की गई, फिर भी किसानों का काफिला आगे बढ़ गया है. हालांकि बड़ी संख्या में और भी किसान दिल्ली कूच करने को तैयार हैं. हरियाणा सरकार ने कहा है कि पंजाब से लगने वाली सीमा 2 दिनों के लिए सील रहेगी.
    हरियाणा सीमा पर पंजाब के किसानों का भारी जमावड़ा है, हरियाणा पंजाब बॉर्डर पर आस पास के गांवों से लोग आंदोलनकारियों के लिए दूध और अन्य जरूरी सामान लेकर पहुंच रहे हैं. आस पास के गांव के लोग किसानों की सहायता के लिए आगे आ रहे हैं.
    किसानों का दिल्ली में प्रवेश रोकने के लिए भी पुलिस की पूरी तैयारी है. पुलिस ने राजधानी में प्रदर्शन करने के किसान संगठनों की सभी मांगों को ठुकरा दिया है. दिल्ली पुलिस ने कहा है कि कोरोना संक्रमण के दौर में अगर किसान दिल्ली में जमा होते हैं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.
    किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली मेट्रो ने अपनी टाइमिंग में कुछ तब्दीलियां की है. इसकी वजह से दोपहर 2 बजे तक दिल्ली से नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद और गुरुग्राम तक मेट्रो सेवाओं पर ब्रेक रहेगी.
    डीएमआरसी के मुताबिक, ब्लू लाइन पर आज सुबह से दोपहर दो बजे तक आनंद विहार से वैशाली और न्यू अशोक नगर से नोएडा सिटी सेंटर तक मेट्रो की सेवाएं बंद रहेगी. इधर येलो लाइन पर सुल्तानपुर मेट्रो स्टेशन से लेकर गुरु द्रोणाचार्य मेट्रो स्टेशन तक भी सेवाएं बंद रहेगी.
    किसानों को जमा होने से रोकने के लिए बीजेपी शासित हरियाणा में कई जगहों पर धारा-144 लगा दी गई है. हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा है कि 26 और 27 नवंबर के लिए पंजाब के लिए बस सेवा भी बंद कर दी गई है.
    चंडीगढ़ से हरियाणा आने वाली बस सेवा को भी दो दिनों के लिए सस्पेंड कर दिया गया है ताकि पंजाब से किसान दिल्ली की ओर न आ सकें. हालांकि किसानों का काफिला दिल्ली के लिए कूच कर चुका है.
    पंजाब ने 12 कंपनी फ़ोर्स बाहर से बुलाई हैं, जिनमे सीआरपीएफ और आरएएफ के जवान हैं. इतना ही नही करीब 1200 दिल्ली पुलिस कर्मी भी नई दिल्ली डिस्ट्रिक्ट मे तैनात रहेंगे. किसान आंदोलन की वजह से दिल्ली-चंडीगढ़ राजमार्ग बाधित रहेगा.
    दिल्ली घेराव को देखते हुए जींद पुलिस ने पंजाब हरियाणा बॉर्डर को दाता सिंह वाला बार्डर पर सील कर दिया है. बेरीकेटिंग करके बार्डर को पूरी तरह से सील कर दिया है. और ले में लगाई धारा 144 लगा दी है. इसके अलावा दर्जनों स्थानों के नाके बंद कर दिए हैं.
    किसानों का कहना है कि जहा सरकार ज्यादती करेगी वहीं धरना देकर बैठ जाएंगे. काले कानूनों के खिलाफ चाहे कुछ करना पड़े किसान पीछे नही हटेंगे.

    Tags: Agriculture Laws, Farmers Protest

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें