लाइव टीवी

पुलिस की मदद से हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा सका कोरोना वायरस का संदिग्ध

News18Hindi
Updated: February 4, 2020, 6:59 PM IST
पुलिस की मदद से हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा सका कोरोना वायरस का संदिग्ध
पंजाब में एक कोरोना वायरस संदिग्ध को पुलिस की मदद से हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया (पंजाब पुलिस की फाइल फोटो)

यह शख्स चीन (China) के रास्ते कनाडा (Canada) से लौटा था. इसने सोमवार को फरीदकोट (Faridkot) के कोटकपुरा सिविल हॉस्पिटल में अपनी जांच कराई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2020, 6:59 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) के फरीदकोट (Faridkot) में जिला प्रशासन को कोरोना वायरस (Corona Virus) के एक संदिग्ध पीड़ित को सरकारी हॉस्पिटल (Government Hospital) के आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती कराने के लिए स्थानीय पुलिस (Police) की मदद लेनी पड़ी. अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि 38 साल के इस व्यक्ति के अंदर कोरोना वायरस जैसे लक्षण देखे गए थे.

यह शख्स कनाडा (Canada) से चीन (China) के रास्ते वापस आया था और लौटने के बाद इसने सोमवार को फरीदकोट के कोटकपुरा सिविल अस्पताल में अपनी जांच कराई थी.

हॉस्पिटल ने सरकारी अस्पताल में भर्ती होने के दिए थे निर्देश
अधिकारियों ने बताया कि इसके बाद शख्स को केंद्र सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस (Guidelines issued by the Union government) के आधार पर फरीदकोट के गुरु गोबिंद सिंह मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल में भर्ती होने की सलाह दी गई थी. फरीदकोट के सिविल सर्जन राजेंद्र कुमार ने बताया कि फिर भी शख्स ने आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) में भर्ती होने से इनकार कर दिया और अपने घर चला गया.

पुलिस ने मरीज को बातचीत के जरिए एडमिट होने के लिए किया राजी
जब यह मामला उच्च अधिकारियों के सामने ले जाया गया तो जिला प्रशासन (District Administration) ने फरीदकोट के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से पूछा तो उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के मेडिकल अधिकारियों की आवश्यक मदद किए जाने का आदेश दिया ताकि मरीज को अकेले में रखा जा सके. फरीदकोट (Faridkot) के डिप्टी एसपी (कोटकपुरा) बलकर सिंह ने कहा है कि पुलिस ने जब मरीज से बातचीत की तो वह सरकारी अस्पताल में भर्ती होने के लिए राजी हो गया.

चीन में मौत का कारण बना कोरोना वायरस है नयाअधिकारियों ने आगे बताया कि मरीज के सैंपल नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ विरोलॉजी (National Institute of Virology), पुणे भेज दिए गए हैं. कोरोना वायरस, वायरसों के एक बड़े परिवार (a large family of viruses) का नाम है जो कि सामान्य ठंड से लेकर जटिल सांस की समस्याएं पैदा करते हैं और इंसान को बीमार बनाते हैं. लेकिन चीन में जिस कोरोना वायरस से लोगों की मौत हो रही है, वह एक नए तरह का वायरस है, जो पहली बार सामने आया है.

वायरस, जिसका मामला सबसे पहले चीन के केंद्रीय प्रांत हुबेई के वुहान शहर (Wuhan City) में सामने आया था, वह अब तक 25 देशों में फैल चुका है. इन देशों में भारत भी शामिल है. भारत में अब तक वायरस के तीन पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं. ये तीनों ही मरीज केरल के हैं. केरल में ही इन्हें बाकी मरीजों से अलग एकांत में रखा गया है. इससे प्रभावित लोगों में अमेरिका और ब्रिटेन भी शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: केरल से क्यों मिल रहे कोरोना वायरस के मरीज, कैसी है बीमारी से लड़ने की तैयारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 6:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर