Assembly Banner 2021

विधायक की नग्न करके पिटाई के विरोध में पंजाब भाजपा का प्रदर्शन, कैप्टन का पुतला फूंका

भाजपा विधायक को पीटे जाने के खिलाफ पंजाब में विरोध-प्रदर्शन करते पार्टी कार्यकर्ता.

भाजपा विधायक को पीटे जाने के खिलाफ पंजाब में विरोध-प्रदर्शन करते पार्टी कार्यकर्ता.

BJP Protest in Punjab: भाजपा नेताओं ने विधायक नारंग के कपड़े फाड़ने और उनकी पिटाई करने की निंदा की है और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 28, 2021, 3:04 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के अबोहर के भाजपा विधायक अरुण नारंग (BJP MLA Arun Narang) पर किसानों द्वारा किए गए कथित हमले के विरोध में पंजाब के विभिन्न हिस्सों में भाजपा के कायकर्ताओं ने रविवार को विरोध प्रदर्शन किया और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) का पूतला भी फूंका. भाजपा नेताओं ने विधायक नारंग के कपड़े फाड़ने और उनकी पिटाई करने की निंदा की है और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. घटना को लेकर पंजाब के पटियाला, बठिंडा, संगरूर और लुधियाना (Patiala, Bathinda, Sangrur and Ludhiana) में विरोध प्रदर्शन किया है.

लुधियाना में पुलिस बल तैनात
मलोट में विधायक अरुण नारंग पर हुए हमले के विरोध में संगरूर में भी भाजपा कार्यकताओं ने जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया, वहीं मलोट में घटना के बाद लुधियाना में भाजयुमों ने घंटा घर के पास पंजाब सरकार का पूतला फूंकने का ऐलान किया है. जिसके बाद पुलिस ने भाजपा कार्यालय के बाहर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की है. शहर में किसी भी टकराव की घटना को रोकने लिए पुलिस मुस्तैदी से काम कर रही है.

संगरूर में चूड़ियां लेकर पहुंचे भाजपा नेता
संगरूर में लालबत्ती चौक पर प्रदर्शन के बाद जिला प्रधान रणदीप दियोल, प्रांतीय नेता जतिंदर कालड़ा, प्रांतीय नेता सरजीवन जिंदल, मंजूला शर्मा, आशुतोष विनायक ने आरोप लगाते हुए कहा है कि कैप्टन सरकार पंजाब में माहौल को खराब करने की कोशिश कर रही है. प्रदर्शन के दौरान नेता और कार्यकर्ता सरकार के लिए चूड़ियां लेकर पहुंचे हुए थे.



क्या है मामला
गौरतलब है कि विधायक नारंग मलोट में बीते शनिवार को पत्रकार वार्ता करने पहुंचे थे. उनके पहुंचने से पहले किसान भाजपा कार्यालय के बाहर नारेबाजी कर रहे थे. नारंग जैस ही कार्यालय के पास आए तो वहां पर प्रदर्शन कर रहे किसानों उन्हें घेर लिया और उन पर कालिख फेंकने की कोशिश की. इस बीच किसानों ने उनके कपड़े फाड़ दिए और उनकी पिटाई कर डाली. पुलिस मशक्कत के बाद उन्हें पास की दुकान में ले गई. इसके बाद उन्हें अबोहर के अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज