पंजाब के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री का अजीब बयान - वजन घटाने के लिए भूखे सोते हैं लोग

पंजाब के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा, पंजाब में कोई भूखा नहीं सोता है.

पंजाब (Punjab) को अपने शानदार खानपान के लिए भी पहचाना जाता है. साल 2019 में पंजाब 36 राज्‍यों (States) और केंद्रशासित प्रदेशों (Union Territories) की सस्‍टेनेबल डेवलपमेंट गोल (SDG) इंडेक्‍स में 12वें नंबर पर खिसक गया है. इस पर राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री (Health Minister) ने कहा कि पंजाब में कोई भूखा नहीं सो सकता.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. नीति आयोग (Niti Aayog) के सस्‍टेनेबल डेवलपमेंट गोल इंडेक्‍स (SDG India Index) में पंजाब 12वें पायदान पर खिसक गया है. इस पर पंजाब (Punjab) के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने अजीब बयान दिया कि वजन घटाने के लिए भूखे सोने वालों के कारण ऐसा हुआ है. उन्‍होंने कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर ज्‍यादा चिंतित रहने वाले लोग इंडेक्‍स में पंजाब के नीचे आने के लिए जिम्‍मेदार हैं. बता दें कि 36 राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों के इंडेक्‍स 2019 में पंजाब इससेे पिछले साल के मुकाबले दो स्‍थान नीचे खिसका है.

    'पंजाब में सिर्फ वजन घटाने वाले ही भूखे सोते हैं'
    इसके अलावा नीति आयोग के 'राज्‍य में जीवन' (Life on Land) के सूचकांक में पंजाब 59वें पायदान और शांति, न्‍याय व सशक्‍त संस्‍थान (Peace, Justice and Strong Institutions) के मामले में 83वें स्‍थान पर पहुंच गया है. रैंक में नीचे जाने पर पंजाब के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री बलबीर सिद्धू (Balbir Sidhu) ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि पंजाब में कोई भी व्‍यक्ति भूखा सोता है. राज्‍य में अगर कोई बिना खाना खाए सोता होगा तो वही जो अपना वजन कम करना चाहता है. पंजाब में लोगों की खुराक बहुत अच्‍छी होती है. सवाल ही पैदा नहीं होता कि यहां कोई बिना खाना खाए सोए.'

    किसी सूचकांक में पहले पायदान पर नहीं पंजाब
    राज्‍य सरकार में मंत्री एसएस धरमसोत (SS Dharamsot) ने लोगों से ही पूछ लिया कि राज्‍य में ऐसा क्‍या हो गया है, जो आपको रोटी बनाने से रोक रहा है. साथ ही कहा कि राज्‍य सरकार लोगों को मुफ्त राशन (Free Ration) उपलब्‍ध करा रही है. ऐसे में भूखा सोने की तो कोई जरूरत ही नहीं है. उन्‍होंने लोगों को सुझाव दिया कि भुखमरी को खत्‍म करने के लिए आपको कुछ कमाई पर भी ध्‍यान चाहिए. उन्‍होंने कहा, 'हम कभी भूखे नहीं रहे. हर व्‍यक्ति को कुछ न कुछ काम जरूर करना चाहिए. जो काम कर सकता है वो पंजाब में भूखा नहीं मर सकता. ये आंकड़े ही गलत हैं. जब हम लोगों को आटा और दाल मुफ्त उपलब्‍ध करा रहे हैं तो वे रोटी कैसे नहीं बना पा रहे?' विकास के एक भी सूचकांक में पंजाब शीर्ष पर नहीं है.

    ये भी पढ़ें:

    ISC में बोले PM- विज्ञान और तकनीकी क्षेत्र पर भारत की सफलता निर्भर

    कोटा में मासूमों की मौत पर भड़कीं मायावती, कहा- बर्खास्त हो राजस्‍थान सरकार

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.