• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पंजाब का दिखेगा असर! अब दूसरे कांग्रेस शासित राज्यों में उठेगी बदलाव की मांग?-3751479

पंजाब का दिखेगा असर! अब दूसरे कांग्रेस शासित राज्यों में उठेगी बदलाव की मांग?-3751479

एक नेता ने कहा कि कांग्रेस को पंजाब में किए गए फैसलों की कीमत चुकानी पड़ेगी. अमरिंदर के अगले कदम के बारे में कई अटकलें हैं. (फ़ाइल फोटो)

एक नेता ने कहा कि कांग्रेस को पंजाब में किए गए फैसलों की कीमत चुकानी पड़ेगी. अमरिंदर के अगले कदम के बारे में कई अटकलें हैं. (फ़ाइल फोटो)

Punjab Congress Turmoil: कांग्रेस नेताओं को अब इस बात का डर सता रहा है कि पंजाब का असर राजस्थान और छत्तीसगढ़ में दिख सकता है. पंजाब के अलावा इन दोनों राज्यों में पार्टी अपने दम पर सत्ता में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. पंजाब में लंबे समय से कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच सत्ता को लेकर खींचतान चल रही थी. अब कैप्टन के मैदान छोड़ते ही फिलहाल के लिए मामला शांत हो गया है. लेकिन माना जा रहा है कि पंजाब (Punjab Congress) का असर अब दूसरे कांग्रेस शासित राज्यों में भी दिख सकता है. राजस्थान और छत्तीसगढ़ में लंबे समय से पार्टी के अंदर घमासान मचा है. आलाकमान ने कोई ठोस फैसला नहीं लिया तो ज्योतिरादित्य सिंधिया, जितिन प्रसाद, सुष्मिता देव और प्रियंका चतुर्वेदी जैसे नेताओं ने कांग्रेस का साथ छोड़ दिया.

    कांग्रेस नेताओं को अब इस बात का डर सता रहा है कि पंजाब का असर राजस्थान और छत्तीसगढ़ में दिख सकता है. पंजाब के अलावा इन दोनों राज्यों में पार्टी अपने दम पर सत्ता में है. महाराष्ट्र से भी बार-बार गलतफहमी की खबरें सामने आई हैं, जहां पार्टी शिवसेना और NCP के साथ गठबंधन में है. लेकिन माना जा रहा है कि यहां सिर्फ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की चलती है.

    ये भी पढ़ें:- पंजाब के बाद छत्तीसगढ़ में हलचल हुई तेज, मंत्री टी एस सिंहदेव दिल्ली रवाना

    क्या होगा राजस्थान में?
    पार्टी के भीतर की बेचैनी को रविवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने काफी हद तक व्यक्त किया. गहलोत ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अमरिंदर सिंह कोई भी ऐसा कदम नहीं उठाएंगे जिससे कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो. बता दें कि पिछले साल कांग्रेस को राजस्थान में गहलोत और सचिन पायलट का झगड़ा शांत कराने के लिए जम कर पसीना बहाना पड़ा था. गहलोत बड़ी मुश्किल से अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब रहे थे. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘पंजाब के घटनाक्रम का कहीं और असर होने की संभावना है. पार्टी के भीतर मतभेद बढ़ सकते हैं और इससे पार्टी और कमजोर होगी.’

    छत्तीसगढ़ में भी विरोध की लहर
    छत्तीसगढ़ में भी हालात ठीक नहीं है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव के बीच तनातनी खुलकर सामने आई है. देव बार-बार पार्टी को पुराने फॉर्मूले की याद दिला रहे हैं. उनके मुताबिक जीत के वक्त कांग्रेस पार्टी ने कहा था कि ढाई साल के बाद सीएम बदला जाएगा. लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हुआ है. पार्टी के दिग्गज कह रहे हैं कि कांग्रेस के भीतर ज्यादातर मुद्दे काफी हद तक खुद से जुड़े हैं.

    ये भी पढ़ें:- Explained: चरणजीत सिंह चन्‍नी को ही आखिर कांग्रेस ने क्यों बनाया पंजाब का CM? ये है 5 वजह

    क्या बगावत करेंगे कैप्टन?
    भाजपा में शीर्ष पदों में बदलाव के बावजूद पार्टी ने एकता और अनुशासन दिखने की कोशिश की है. जैसा कि गुजरात में देखने को मिला. एक नेता ने कहा कि कांग्रेस को पंजाब में किए गए फैसलों की कीमत चुकानी पड़ेगी. अमरिंदर के अगले कदम के बारे में कई अटकलें हैं. कई लोग कह रहे हैं कि 2022 के चुनावों में वो बगावत कर सकते हैं. कई लोग ये भी कह रहे हैं कि वो भाजपा में शामिल हो सकते हैं.पार्टी के एक दिग्गज ने कहा, ‘नेताओं की आकांक्षाएं अक्सर पूरी होने के लिए बहुत अधिक होती हैं. अगर आप सभी आकांक्षाओं को समायोजित करने का प्रयास करते हैं तो कांग्रेस के भीतर संघर्ष बढ़ना तय है, जैसा कि पंजाब में विधायकों ने मुख्यमंत्री के खिलाफ किया.’

    जी-23 के नेताओं की भी नज़र
    सूत्रों के अनुसार, जी-23 के असंतुष्ठ नेता जिसने अगस्त 2020 में पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी को पत्र लिखकर संगठनात्मक बदलाव की मांग की थी, वो भी पंजाब की उथल-पुथल के परिणाम का इंतजार कर रहे हैं. एआईसीसी के एक पूर्व पदाधिकारी ने कहा कि एक बार किसी भी पार्टी के बड़े नेता खुले तौर पर असहमत हो जाते हैं, तो चीजें आगे बढ़ सकती हैं. नाम न बताने की शर्त पर एक नेता ने कहा कि जब पंजाब में मुद्दों से निपटने की बात आती है तो उन्हें ‘खेद’ होता है. अंदरूनी कलह का सामना कर रहे राज्य के एक पूर्व मंत्री ने कहा, ‘इससे और अधिक आंतरिक असंतोष और गुटबाजी हो सकती है.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज