पुरी: जगन्नाथ मंदिर का एक सेवादार पाया गया कोरोना पॉजिटिव

सुप्रीम कोर्ट ने  रथ यात्रा को मंजूरी दी थी.
सुप्रीम कोर्ट ने रथ यात्रा को मंजूरी दी थी.

जगन्नाथ मंदिर (Jagannath Mandir) के एक सेवादार की जांच में कोविड-19 (Coronavirus) की पुष्टि हुई है.

  • Share this:
पुरी. श्री जगन्नाथ मंदिर (Jagannath Mandir) के एक सेवादार की जांच में कोविड-19 की पुष्टि हुई है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को होने वाले वार्षिक रथयात्रा महोत्सव (Jagannath puri Rathyatra) से पहले मंदिर के पुजारियों और पुलिस कर्मियों की अनिवार्य कोरोना वायरस (Coronaovirus) जांच के दौरान यह मामला सामने आया. अधिकारी ने कहा कि संक्रमित पाए गए सेवादार को रथयात्रा से संबंधित किसी भी अनुष्ठान में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Coourt) के दिशा निर्देशों के अनुसार सोमवार रात को 1,143 सेवादारों के नमूने जांच के वास्ते लिए गए थे. अधिकारी ने कहा, 'एक को छोड़कर, किसी और की जांच में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई. संक्रमित पाए गए सेवादार को कोविड-19 अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है.'

सुप्रीम कोर्ट ने दी रथयात्रा महोत्सव के आयोजन की अनुमति
पहले दिए गए अपने आदेश में संशोधन करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ओडिशा सरकार द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद रथयात्रा महोत्सव के आयोजन की अनुमति सोमवार को दी थी. ओडिशा सरकार (Odisha Government) ने न्यायालय में आश्वासन दिया था कि रथयात्रा का आयोजन सीमित स्तर पर किया जाएगा और उसमें जनता को भाग लेने की अनुमति नहीं होगी.
मंदिर के एक अधिकारी ने बताया कि मंदिर से भगवान की प्रतिमाओं को रथ तक लाने का अनुष्ठान मंगलवार  सुबह उन सेवादारों ने किया जिनकी जांच में कोरोना वायरस की पुष्टि नहीं हुई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज