• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पुरुलिया 'सुई' हत्याकांड: 4 साल बाद मासूम को मिला इंसाफ! दोनों दोषियों को सजा-ए-मौत

पुरुलिया 'सुई' हत्याकांड: 4 साल बाद मासूम को मिला इंसाफ! दोनों दोषियों को सजा-ए-मौत

बच्ची की मां और उसके कथित प्रेमी सनातन ठाकुर को मौत की सजा सुनाई है. (फोटो: News18 Bengali)

बच्ची की मां और उसके कथित प्रेमी सनातन ठाकुर को मौत की सजा सुनाई है. (फोटो: News18 Bengali)

Purulia Needle Murder Case: शनिवार को पुरुलिया की अदालत ने दोनों आरोपियों को बच्ची की हत्या की साजिश रचने और मिलीभगत करने का दोषी ठहराया था. लोक अभियोजक के निवेदन पर अदालत ने मामले पर फैसला सोमवार तक के लिए टाल दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    पुरुलिया. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के पुरुलिया में 2017 में हुए ‘सुई’ हत्याकांड मामले में अदालत का फैसला आ गया है. मंगलवार को कोर्ट ने दोनों दोषियों यानि बच्ची की मां और उसके कथित प्रेमी सनातन ठाकुर (Sanatan Thakur) को मौत की सजा सुनाई है. करीब चार साल पहले साढ़े तीन साल की बच्ची को शरीर में सुइयां चुभाकर यातनाएं दी गई थी. मासूम ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया था. जांच में डॉक्टर्स को उसके शरीर में 7 सुइयां डाले जाने की बात पता लगी थी.

    अभियोजन पक्ष के अनुसार, दोनों ने बच्ची को मारने का फैसला किया था, क्योंकि वह दोनों के ‘संबंधों में रुकावट’ बन रही थी. बच्ची को ‘यौन यातनाएं’ भी दी गई थी. बच्ची का इलाज करने वाले चिकित्सकों का कहना है कि उन्होंने उसके शरीर में 4 इंच की 7 सुइयां निकाली थी. यह सुइयां गुप्तांगों में भी मिली थी. पुलिस को शक है कि ठाकुर ने ‘तांत्रिक क्रियाओं’ के चलते ये सुइयां चुभाई थी.

    शनिवार को पुरुलिया की अदालत ने दोनों आरोपियों को बच्ची की हत्या की साजिश रचने और मिलीभगत करने का दोषी ठहराया था. लोक अभियोजक के निवेदन पर अदालत ने मामले पर फैसला सोमवार तक के लिए टाल दिया था. अभियोजन पक्ष ने दोषियों को लिए मौत की सजा की मांग की थी. इस वारदात को ‘क्रूर और असामान्य अपराध’ बताया था.

    क्या था मामला
    11 जुलाई 2017 को महिला ने अपनी साढ़े तीन साल की बच्ची को पुरुलिया के एक अस्पताल में भर्ती कराया था. उसने दावा किया था कि बच्ची को बुखार, सर्दी और जुकाम है. जांच के दौरान डॉक्टर्स ने पाया कि बच्ची के शरीर पर चोट समेत कई निशान थे और साथ ही खून के धब्बे भी मौजूद थे. इन चोटों के असल कारण पता करने के लिए एक टीम का गठन किया गया था. जांच के दौरान एक्स रे ने खुलासा किया कि बच्ची के शरीर में 7 सुइयां डाली गई थी. गंभीर हालत में मासूम को राजधानी कोलकाता के अस्पताल में दाखिल किया गया, जहां 21 जुलाई 2017 को उसने दम तोड़ दिया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज