Home /News /nation /

questions are being raised regarding the exam pattern of cuet pg exam jnu vc santishree dhulipudi pandit appealed to the government

CUET PG परीक्षा के एग्जाम पैटर्न पर उठे सवाल, JNU वीसी ने सरकार से की ये अपील

JNU वीसी ने कहा है कि मास्टर कोर्स में प्रवेश बहुविकल्पीय प्रश्न के माध्यम से नहीं किया जा सकता है. (फाइल फोटो)

JNU वीसी ने कहा है कि मास्टर कोर्स में प्रवेश बहुविकल्पीय प्रश्न के माध्यम से नहीं किया जा सकता है. (फाइल फोटो)

JNU CUET PG 2022: वाइस चांसलर शांतिश्री धूलिपुडी पंडित ने कहा कि विश्वविद्यालय केंद्र सरकार से मास्टर कोर्स में प्रवेश के लिए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (CUET) के फॉर्मेट को बदलने की अपील कर रहा है. पंडित ने कहा है कि मास्टर कोर्स में प्रवेश बहुविकल्पीय प्रश्न (एमसीक्यू) टेस्ट के माध्यम से नहीं किया जा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

JNU VC ने MCQ टेस्ट पर चिंता जताई
एमसीक्यू फॉर्मेट में बदलाव की मांग की
CUET PG से पहले JNU की अपनी प्रवेश परीक्षा थी

नई दिल्ली. CUET PG परीक्षा पर जेएनयू की वाइस चांसलर शांतिश्री धूलिपुडी पंडित ने केंद्र सरकार से मास्टर कोर्स में प्रवेश के लिए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (CUET) के फॉर्मेट को बदलने की अपील की है. पंडित ने कहा कि मास्टर कोर्स में प्रवेश बहुविकल्पीय प्रश्न (एमसीक्यू) टेस्ट के माध्यम से नहीं किया जा सकता है. उन्होंने क्वालिटेटिव टेस्ट के अभाव में छात्रों के प्रवेश पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में भी चिंता जाहिर की.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक प्रवेश के लिए सीयूईटी का पालन करने के विश्वविद्यालय के फैसले का जिक्र करते हुए जेएनयू वीसी ने कहा कि ‘सीयूईटी में शामिल होने की स्वीकृति पिछले प्रशासन द्वारा की गई थी. अगर मैं वहां होती तो मैं इन चिंताओं को लिखित रूप में रखती, क्योंकि यह बहुत महत्वपूर्ण है, ब्यूरोक्रेसी को प्रवेश परीक्षा के बारे में समझ नहीं होती है.’

वाइस चांसलर शांतिश्री ने आगे कहा कि ‘यह महत्वपूर्ण है कि एक शिक्षक के रूप में और सिस्टम के हितधारक के रूप में, हमें उन्हें यह समझाना होगा कि वास्तव में यही कठिनाइयां हैं. हम सिस्टम का विरोध नहीं कर रहे हैं, लेकिन अगर हम इस तरह की एकरूपता रखने जा रहे हैं तो सिस्टम का कार्यान्वयन विनाशकारी हो सकता है.’

66 विश्वविद्यालयों ने अपनाया
CUET PG केंद्रीय विश्वविद्यालयों के मास्टर कोर्स में प्रवेश के लिए नई आम प्रवेश परीक्षा है. शैक्षणिक सत्र 2022-23 में प्रवेश के लिए कम से कम 66 विश्वविद्यालयों (ज्यादातर केंद्र सरकार द्वारा संचालित) ने कंप्यूटर आधारित CUET-PG प्रवेश परीक्षा को अपनाया है. यह भारत के लगभग 500 शहरों और विदेशों में 13 केंद्रों पर 1 से 11 सितंबर के बीच दो शिफ्टों में आयोजित की जाएगी. प्रवेश परीक्षा केवल एमसीक्यू के माध्यम से होगी.

गौरतलब है कि सीयूईटी-पीजी को अपनाने से पहले जेएनयू की अपनी प्रवेश परीक्षा थी, जो राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित की जाती थी. प्रश्न पत्र प्रत्येक कार्यक्रम के लिए अलग-अलग होता था और इसमें विभिन्न प्रकार के प्रश्न होते थे, जिसमें ऑब्जेक्टिव, सब्जेक्टिव और शॉर्ट आंसर टाइप प्रश्न होते थे.

Tags: CUET 2022, Jnu

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर