26 जैन मंदिरों को तोड़कर बनी है कुतुब मीनार, नहीं मना सकते इसका जश्न : तारिक फतेह

26 जैन मंदिरों को तोड़कर बनी है कुतुब मीनार, नहीं मना सकते इसका जश्न : तारिक फतेह
पाकिस्तानी मूल के पत्रकार तारिक फतेह ने दावा किया कि कुतुब मीनार 26 जैन मंदिरों को तोड़कर बनाई गई.

मुगल म्यूजियम (Mughal Museum) का नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी (Chhatrapati Shivaji) के नाम पर रखने के बाद एक बार फिर पूरे देश में मुगलकालीन इतिहास (Mughal History) पर बहस छिड़ गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2020, 1:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने आगरा के मुगल म्यूजियम (Mughal Museum) का नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी (Chhatrapati Shivaji) के नाम पर रखने की जानकारी ट्वीट करके दी. सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने ट्वीट में कहा कि, नए उत्तर प्रदेश में गुलामी की मानसिकता के प्रतीक चिह्नों का कोई स्थान नहीं है. हम सबके नायक शिवाजी महाराज हैं.

उत्तर प्रदेश सरकार के इस फैसले से एक बाद एक बार फिर पूरे देश में मुगलकालीन इतिहास पर बहस छिड़ गई है. आपको बता दें कुछ साल पहले दिल्ली में औरंगजेब रोड का नाम बदलने पर विवाद हुआ था.

'मुगल म्यूजियम' का नाम बदले जाने पर एक टीबी चैनल ने डिबेट आयोजित की. जिसमें पाकिस्तानी मूल के वरिष्ठ पत्रकार और लेखक तारिक फतेह कनाडा से शामिल हुए. उन्होंने डिबेट में प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, जो लोग भारत को लूटने आए, आज हम उन्हें अपने बादशाह के रूप में संदर्भित करते हैं, जश्न मनाते हैं. उन्होंने कहा, 'बाबर ना भारत में पैदा हुआ और ना भारत में मरा. बाबर ने भारत में नफरत फैलाई और हजारों-लाखों लोगों की हत्या की, हम उसे हिंदुस्तान का बादशाह नहीं मान सकते.'



तारिक फतेह ने कहा कि, ताजमहल हिंदुस्तानियों ने बनाया था और दुनिया में ऐसा कोई देश नहीं जिसने खुद पर हमला करने वालों को सम्मानित किया हो. ऐसा देश केवल भारत है. उन्होंने कहा कि मुगलों ने सिखों, हिंदुओं, मुसलमानों और शियाओं पर जुल्म ढहाए. तारिक फतेह ने दावा करते हुए कहा कि, दिल्ली में बनी कुतुब मीनार को 26 जैन मंदिरों को तोड़कर बनाया गया, इसका जश्न मनाया जाता है. हम में आत्मसम्मान होना चाहिए.
तारिक फतेह ने आलोचना करते हुए कहा कि, भारत को पहले सुल्तानों ने तबाह किया, लोगों को मारा. इसके उलट भारत में मुगल-ए-आजम बना दी गई. मुगल शब्द ही 'दूषित' है. ये मंगोल से जुड़ा है, ये वो लोग हैं, जिन्हें समरकंद में कुछ नहीं मिला, तो तैमूर की औलादें भारत में आईं और लूटकर चली गईं.

आपको बता दे एक कार्यक्रम में केंद्रीय संस्कृतिक एवं पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने भी कुतुब मीनार के इतिहास पर प्रतिक्रिया दी थी. उन्होंने पिछले साल कुतुब मीनार में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि कुतुब मीनार हमारी संस्कृति का सबसे बड़ा उदाहरण है. यह ऐसा स्मारक है जो 27 मंदिरों को ढहाकर बनाया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज