कोविड-19: भारतीय वैक्सीन के लिए तेज हुई दौड़, 6 शहरों में ह्यूमन ट्रायल जारी

कोविड-19: भारतीय वैक्सीन के लिए तेज हुई दौड़, 6 शहरों में ह्यूमन ट्रायल जारी
भारत बायोटेक और जायडस कैडिला दोनों को ही फेज I और फेज II के क्लीनिकल ट्रायल की अनुमति मिल चुकी है (फोटो- AP)

भारत बायोटेक (BB) और जायडस कैडिला (Zydus Cadila) दोनों को ही फेज I और फेज II के क्लीनिकल ट्रायल (Clinical Trail) की अनुमति मिल चुकी है और उन्होंने अपने वैक्सीन उम्मीदवारों की पहली डोज 15 जुलाई को वॉलंटियर्स को दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. नये कोरोना वायरस (Novel Coronavirus) की रोकथाम के लिए देशी वैक्सीन (Indigenous Vaccine) की दौड़ तेज हो चुकी है. दो कंपनियों- भारत बायोटेक (Bharat Biotech) और जायडस कैडिला (Zydus Cadila) के वैक्सीन उम्मीदवारों (Vaccine candidates) का वर्तमान में कई राज्यों के 6 शहरों में इंसानों पर परीक्षण किया जा रहा है. हालिया अध्ययन का विषय एक 30 साल का आदमी बना हुआ है, जिसे शुक्रवार को दिल्ली के पहले रोगी के तौर पर एम्स (AIIMS) में भारत बायोटेक (BB) की वैक्सीन कोवैक्सीन की 0.5 मिलीली की डोज का इंजेक्शन मांसपेशियों के बीच (Intramuscular) लगाया गया.

भारत बायोटेक (BB) और जायडस कैडिला (Zydus Cadila) दोनों को ही फेज I और फेज II के क्लीनिकल ट्रायल (Clinical Trail) की अनुमति मिल चुकी है और उन्होंने अपने वैक्सीन उम्मीदवारों की पहली डोज 15 जुलाई को वॉलंटियर्स को दी है. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय (Oxford University) में विकसित एक तीसरा वैक्सीन उम्मीदवार, जल्द ही भारत में परीक्षण किया जाएगा. सीरम इंस्टीट्यूट (SII), जो यूके के एस्ट्रा ज़ेनेका (Astra Zeneca) के साथ एक इसके निर्माण को लेकर साझेदारी कर चुका है, ने कहा है कि जैसे ही यह विनियामक अनुमति (regulatory approval) प्राप्त करेगा, यह मानव परीक्षण (Human Trail) शुरू कर देगा.

भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के परीक्षण में शामिल होंगे 500 से ज्यादा वॉलंटियर्स
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ विरोलॉजी (NIV) के सहयोग से विकसित भारत बायोटेक (BB) की कोवैक्सीन का परीक्षण 12 अस्पतालों- एम्स, दिल्ली और पटना, और PGI रोहतक सहित 12 शहरों में किया जाएगा. पहले चरण में 500 से अधिक वॉलंटियर्स को शामिल किया जाएगा. ये सभी स्वस्थ और 18 से 55 वर्ष की आयु के बीच के और बिना किसी गंभीर रोग से संक्रमित हुए लोग होंगे.
इन शहरों में शुरू किया जा चुका है अलग-अलग वैक्सीन का परीक्षण


जायडस के उम्मीदवार ZyCoV-D का परीक्षण, वर्तमान में अहमदाबाद में अपने अनुसंधान केंद्र तक सीमित है, लेकिन इसे कई शहरों में विस्तार किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: चीन को उसी की भाषा में मिलेगा जवाब, ITBP के जवानों को दी जा रही खास ट्रेनिंग

हैदराबाद, पटना, कांचीपुरम, रोहतक और अब दिल्ली में कोवैक्सीन का परीक्षण शुरू हो चुका है. इसके बाद नागपुर, भुवनेश्वर, बेलगाम, गोरखपुर, कानपुर, गोवा और विशाखापत्तनम को भी इसके परीक्षण में शामिल किया जायेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading