कुछ देर में भारत में Rafale, दिग्विजय बोले- चौकीदार जी अब तो बता दीजिए क्या थी कीमत?

कुछ देर में भारत में Rafale, दिग्विजय बोले- चौकीदार जी अब तो बता दीजिए क्या थी कीमत?
दिग्विजय सिंह ने राफेल पर उठाए सवाल

राफेल (Rafale) एक फ्रांसीसी कंपनी दसॉ एविएशन निर्मित दो इंजन वाला मध्यम मल्टी-रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (MMRCA) है. राफेल लड़ाकू विमानों को 'ओमनिरोल' विमानों के रूप में रखा गया है, जो कि युद्ध में अहम रोल निभाने में सक्षम हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 29, 2020, 12:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. फ्रांस निर्मित 36 में से पांच राफेल (Rafale Jet Fighter) विमान आज हरियाणा स्थित अंबाला में भारतीय वायुसेना के बेस पर पहुंचेंगे. इस दौरान उन्हें वॉटर सैल्यूट दिया जाएगा. वहीं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर आरोप लगाया है. गौरतलब है कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस विमान के सौदे पर करप्शन का मुद्दा उठाया था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरा था.

राफेल के भारत पहुंचने से पहले मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा -आख़िर राफ़ेल fighter plane आ गया. 126 राफ़ेल ख़रीदने के लिए कांग्रेस के नेतृत्व में UPA ने 2012 में फैसला लिया था और 18 राफ़ेल को छोड़कर कर बाकी भारत सरकार के HAL में निर्माण का प्रावधान था. यह भारत के आत्मनिर्भर होने का प्रमाण था. एक राफ़ेल की क़ीमत ₹746 करोड़ तय की गई थी.'

दिग्विजय ने कहा- 'मोदी सरकार आने के बाद फ़्रांस के साथ मोदी जी ने बिना रक्षा, वित्त मंत्रालय व कैबिनेट कमेटी की मंज़ूरी के नया समझौता कर लिया और HAL का हक़ मार कर निजी कंपनी को देने का समझौता कर लिया. राष्ट्रीय सुरक्षा को अनदेखी कर 126 राफ़ेल ख़रीदने के बजाय केवल 36 ख़रीदने का निर्णय ले लिया.'




एक राफेल कितने में खरीदा आज तक नहीं बताया
कांग्रेस नेता ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए लिखा- 'एक राफ़ेल की क़ीमत कांग्रेस सरकार ने ₹746 करोड़ रुपये तय की थी लेकिन “चौकीदार” महोदय कई बार संसद में और संसद के बाहर भी मांग करने के बावजूद आज तक एक राफ़ेल कितने में ख़रीदा है, बताने से बच रहे हैं. क्यों? क्योंकि चौकीदार जी की चोरी उजागर हो जायेगी!! “चौकीदार” जी अब तो उसकी क़ीमत बता दें!!'

सिर्फ 36 राफेल खरीदने के फैसले पर दिग्विजय ने कहा- 'राष्ट्रीय सुऱक्षा का आकलन करते हुए रक्षा मंत्रालय ने 126 राफ़ेल ख़रीदने की सिफ़ारिश की थी जो UPA ने स्वीकार कर सहमति दी. अब मोदी जी ने 126 के बजाय 36 राफेल ख़रीदने का फ़ैसला क्यों लिया? यह पूछने पर भी कोई जवाब नहीं. क्या मोदी जी ने राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया?'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading