लाइव टीवी

सरकार को घेरने की कोशिश में खुद फंसे राहुल गांधी, संसद में 50 तो बाहर पूछे 500 डिफॉल्टर्स के नाम

News18Hindi
Updated: March 16, 2020, 4:55 PM IST
सरकार को घेरने की कोशिश में खुद फंसे राहुल गांधी, संसद में 50 तो बाहर पूछे 500 डिफॉल्टर्स के नाम
कश्मीर की कवरेज पर तीन भारतीय फोटोग्राफर्स ने जीता पुलित्‍जर अवॉर्ड, राहुल गांधी ने दी बधाई.

सरकार पर आरोप लगाने के चक्कर में कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) खुद ही आंकड़ों में उलझ गए और उन्होंने संसद के बाहर सदन में दिए अपने भाषण से अलग बयान दे दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2020, 4:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने सोमवार को लोकसभा (Loksabha) में नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) पर देश के 50 बड़े बैंक लोन डिफॉल्टर (Bank Loan Defaulter) को बचाने का आरोप लगाया तो वहीं वित्त मंत्री ने कहा कि कांग्रेस नेता इस मुद्दे पर राजनीति कर रहे हैं और कुछ लोग अपने पापों को दूसरों के सिर मढ़ने की कोशिश कर रहे हैं जो कि हम होने नहीं देंगे.

आंकड़ों में उलझे राहुल
सरकार पर आरोप लगाने के चक्कर में राहुल गांधी खुद ही आंकड़ों में उलझ गए और उन्होंने संसद के बाहर सदन में दिए अपने भाषण से अलग बयान दे दिया. पत्रकारों से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि-

सरकार से सवाल पूछना संसद के हर सदस्य का अधिकार है, जब आप सवाल पूछते हैं तो मंत्री उसका जवाब देते हैं जिसके बाद आप कोई और सवाल पूछ सकते हैं, कई बार आप को एक और सवाल पूछने की अनुमति मिलती है. आज मैंने एक सवाल पूछा लेकिन मंत्री ने उसका जवाब नहीं दिया, मैंने पूछा कि भारत में सबसे बड़े 500 डिफॉल्टर्स कौन हैं. मंत्री ने मेरे इस सवाल का जवाब नहीं दिया. मुझे इससे दुख पहुंचा क्योंकि स्पीकर की ड्यूटी है कि मेरे अधिकारों की रक्षा करें, लेकिन उन्होंने मुझे दूसरा सवाल पूछने नहीं दिया. यह मेरे अधिकारों का हनन है. यह गलत है.




यही नहीं राहुल ने एक बार फिर सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार क्यों इन 500 डिफॉल्टर्स के नाम बताने से डर रही है. उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि अर्थव्यवस्था की हालत ठीक नहीं है 500 लोग जिन्होंने देश का पैसा चुराया है. राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा है कि वह इन लोगों पर कार्रवाई करेंगे तो फिर क्यों सरकार इन 500 लोगों के नाम नहीं बता रही है.





राहुल को नहीं मिली थी प्रश्न करने की इजाज़त
बता दें कि राहुल गांधी को प्रश्नकाल में अनुपूरक प्रश्न पूछने की अनुमति नहीं दी गई जिस पर कांग्रेस सदस्यों ने कड़ी आपत्ति जताई और इसके विरोध में आसन के समक्ष आकर नारेबाजी भी की. सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि यह सरासर नाइंसाफी है कि राहुल गांधी को अनुपूरक प्रश्न नहीं करने दिया गया जबकि प्रश्नकाल समाप्त होने में अभी थोड़ा समय बाकी था. इसके बाद कांग्रेस सदस्य इसके विरोध में सदन से वॉकआउट कर गए .

इससे पूर्व, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि देश के सभी बैंक सुरक्षित हैं और यस बैंक के जमाकर्ताओं का पैसा भी सुरक्षित है.

अनुराग ठाकुर ने राहुल के सवाल का दिया जवाब
अनुराग ठाकुर ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि इनकी सरकार ने पैसा देकर लोगों को देश से बाहर भगाया. लेकिन मोदी जी वही पैसा वापस ला रहे हैं . मोदी सरकार ही भगोड़ा आर्थिक अपराधी संबंधी विधेयक लाई है. ऐसे आर्थिक अपराधियों की संपत्तियों को जब्त किया गया है. इसी क्रम में वित्त राज्य मंत्री ने कहा कि वह इस चर्चा में ‘पेंटिंग खरीदने बेचने’ की बात नहीं करना चाहते क्योंकि उनकी मंशा इस मुद्दे पर राजनीति करने की नहीं है.

गौरतलब है कि यस बैंक के प्रमोटर राणा कपूर ने कुछ साल पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से एमएफ हुसैन की पेंटिंग खरीदी थी जिसे लेकर पिछले दिनों राजनीति गर्मायी रही थी.

ठाकुर ने कहा कि राहुल गांधी पूरी भारतीय बैंकिंग व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर रहे हैं जो इनकी नामसमझी दिखाता है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं.

राहुल ने सरकार पर उठाए सवाल
राहुल गांधी ने अपने मूल प्रश्न को उठाते हुए कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था बुरे दौर से गुजर रही है, व्यावहारिक रूप से देखा जाए तो बैंकिंग सिस्टम काम नहीं कर रहा है. उन्होंने कहा कि इसका मुख्य कारण बड़ी संख्या में लोग बैंकों का पैसा चुराकर भागना है. उन्होंने सरकार से देश के शीर्ष 50 विलफुल डिफाल्टर्स के नाम बताने की मांग की.

साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि सरकार ने उनके सवाल का घुमाफिरा कर जवाब दिया है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि जिन लोगों ने बैंकों का पैसा हड़पा है उन्हें वह पकड़ कर लाएंगे लेकिन उनकी सरकार 50 बड़े विलफुल डिफाल्टर्स के नाम तक नहीं बता रही है. उनके सवाल का जवाब देते हुए वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि राहुल गांधी ने भूमिका इतनी ज्यादा बांधी है क्योंकि इनको पता है कि कमियां कहां हैं. उन्होंने कांग्रेस की ओर इशारा करते हुए कहा कि कुछ लोग अपने पापों को दूसरों के सिर मढ़ने की कोशिश कर रहे हैं जो कि हम होने नहीं देंगे.

(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-

कोरोना संकट पर इंडस्ट्री को मिल सकती है राहत, सेक्टोरल पैकेज की तैयारी शुरू
राहुल गांधी का सवाल- विलफुल डिफाल्टर्स का नाम बताने से क्यों डर रही सरकार?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 16, 2020, 4:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading