लाइव टीवी

राहुल गांधी का सरकार पर हमला, कहा- आज PM के खिलाफ बोलने पर जेल होती है

भाषा
Updated: October 4, 2019, 10:59 PM IST
राहुल गांधी का सरकार पर हमला, कहा- आज PM के खिलाफ बोलने पर जेल होती है
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री या सरकार के खिलाफ मुंह खोलने पर आज जेल में डाल दिया जाता है.

वायनाड दौरे पर गए कांग्रेस के नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और सरकार (Government) पर जमकर हमला किया है. उन्‍होंने कहा कि सरकार के खिलाफ बोलने पर आज जेल में डाल दिया जाता है.

  • Share this:
वायनाड. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) या सरकार (Government) के खिलाफ मुंह खोलने वाले किसी भी व्यक्ति को जेल में डाल दिया जा रहा है. गौरतलब है कि मॉब लिंचिंग (Mob Lynching) के मामले में प्रधानमंत्री को खुला पत्र लिखने वाले 50 गणमान्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी (FIR) दर्ज किए जाने के एक दिन बाद राहुल गांधी ने यह बात कही है.

राहुल गांधी ने कहा, 'यह कोई राज नहीं है कि देश तानाशाही शासन की ओर बढ़ रहा है. प्रधानमंत्री को देश को बताना चाहिए कि उन्होंने अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर बेरोजगारी क्यों बढ़ा दी है. वायनाड से सांसद गांधी ने कहा, 'सबको पता है कि देश में क्या चल रहा है. यह कोई रहस्य नहीं है. वास्तव में पूरी दुनिया जानती है. हम तानाशाही की ओर बढ़ रहे हैं. यह स्पष्ट है.'

राहुल गांधी बांदीपुर बाघ अभयारण्य में रात को यातायात पर लगे प्रतिबंध के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों का समर्थन करने के लिए यहां आए हुए हैं. उन्होंने कहा, 'कोई भी अगर प्रधानमंत्री के खिलाफ कुछ भी कहता है, कोई भी जो सरकार के खिलाफ आवाज उठाता है, उसे या तो जेल में डाल दिया जा रहा है या उस पर हमला किया जा रहा है. मीडिया को दबा दिया गया है. सबको पता है कि क्या चल रहा है. यह कोई राज की बात नहीं है.'

मुजफ्फरपुर जिले में 50 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में गुरुवार को रामचन्द्र गुहा, मणि रत्नम, अदूर गोपालकृष्णन और अपर्णा सेन सहित 50 ऐसे गणमान्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी, जिन्होंने प्रधानमंत्री को खुला पत्र लिखकर देश में बढ़ रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर चिंता जतायी थी.

इन गणमान्य लोगों के खिलाफ कोर्ट में दायर एक मुकदमे पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट का आदेश आने के बाद मामला दर्ज किया गया. याचिका में दावा किया गया है कि इन लोगों ने देश की छवि को कथित रूप से नुकसान पहुंचाया है और प्रधानमंत्री के बेहतरीन कामकाज को कमतर दिखा रहे हैं. साथ ही अलगाववादी प्रवृत्तियों को बढ़ावा दे रहे हैं.

नजर नहीं आ रही विकास दर
Loading...

बड़े पैमाने पर बेरोजगारी और अर्थव्यवस्था की खराब हालत को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा कि विकास दर अब नजर नहीं आ रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र 15 लोगों को 1,2,000 करोड़ रुपये का कर लाभ दे सकता है लेकिन गरीबों को कुछ नहीं दे रहा.

राहुल ने कहा- युवा रोजगार का सपना क्‍यों नहीं देख सकते?
गांधी ने सवाल किया, 'भारत में आज क्या महत्वपूर्ण है? भाजपा को जवाब देना चाहिए, नरेन्द्र मोदी को जवाब देना चाहिए कि उन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था क्यों बर्बाद की? उन्होंने देश में इस कदर बेरोजगारी क्यों बढ़ने दी? इस देश में युवा रोजगार पाने का सपना क्यों नहीं देख सकते? नरेन्द्र मोदी को यह चर्चा करने की जरुरत है.'

राहुल गांधी का कहना है कि देश में दो विचारधारा है. पहली..... देश का शासन 'एक व्यक्ति एक सिद्धांत से चलना चाहिए', जबकि अन्य लोगों की आवाज और अभिव्यक्ति को नहीं दबाया जाना चाहिए. वहीं दूसरी विचारधारा है... देश का शासन 'एक व्यक्ति एक सिद्धांत से चलना चाहिए' जबकि अन्य लोगों को मुंह बंद रखना चाहिए.

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी केरल के NH-766 पर यातायात प्रतिबंध के खिलाफ प्रदर्शन में हुए शामिल

ये भी पढ़ें: नाराज़ संजय निरुपम ने कहा- सोनिया समर्थक कर रहे हैं राहुल गांधी के खिलाफ साजिश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 10:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...