दोनों झूठे हैं, ढूंढना मुश्किल... राहुल गांधी ने PMCares और PM को लेकर कही ये बात

राहुल गांधी (PTI)

राहुल गांधी (PTI)

कोरोना (Coronavirus) को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) मोदी सरकार (Modi Government) पर लगातार हमले बोल रहे हैं. उन्होंने पीएम केयर्स फंड (PMCares) से जारी किए गए वेंटिलेटरों को भी लेकर सरकार पर निशाना साधा है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत कोरोना वायरस की दूसरी लहर से गुजर रहा है. हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. मेडिकल सुविधाओं और इंफ्रास्ट्र्क्चर की कमी के चलते देश के कई राज्यों में कोरोना की मरीजों की जानें गई हैं. पीएम केयर्स फंड (PMCares) के तहत राज्यों को वेंटिलेटर्स जारी किए गए थे, लेकिन पंजाब समेत कई राज्यों में इन वेंटिलेटर्स में तकनीकी खामियां पाई गई थीं, जिसके बाद डॉक्टरों ने ही हाथ खड़े कर दिए थे. इन सबको लेकर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने फिर से मोदी सरकार पर तंज कसे हैं.

राहुल गांधी ने कहा है कि पीएम केयर्स और पीएम मोदी झूठे हैं और काम करने में फेल हैं. राहुल गांधी ने सोमवार को एक ट्वीट में कहा, 'PMCares के वेंटिलेटर और स्वयं PM में कई समानताएं हैं. दोनों का हद से ज़्यादा झूठा प्रचार, दोनों ही अपना काम करने में फ़ेल और ज़रूरत के समय दोनों को ढूंढना मुश्किल है.’


बता दें कि पिछले हफ्ते भोपाल के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल हमीदिया अस्‍पताल में खराब वेंटिलेटरों का मामला उठा था. यहां के डॉक्टरों ने अस्पताल प्रशासन को एक खत लिखा था, जिसमें साफ कहा गया था कि पीएम केयर फंड से मिले वेंटिलेटर गड़बड़ हैं, न ऑक्सीजन फ्लो आता है, न प्रेशर बनता है, चलते-चलते मशीन बंद हो जाती है. ऐसे में मरीज की जान बचाना मुश्किल है. वहीं, पंजाब को पीएम केयर्स फंड से 12 वेंटिलेटर्स जारी किए गए थे, सभी खराब निकले. सीएम कैप्टन अमरिंदर ने इसकी शिकायत की थी.
कोरोना के इलाज में क्या गेमचेंजर साबित होगी DRDO की दवा 2-DG? जानें हर सवाल का जवाब

इससे पहले रविवार को राहुल गांधी समेत कई कांग्रेस नेताओं ने प्रधानमंत्री की आलोचना करने वाले पोस्टर कथित तौर पर लगाने को लेकर कुछ लोगों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की निंदा की. राहुल ने सरकार को चुनौती दी कि वह कोविड-19 के टीकों के निर्यात पर सवाल उठाने को लेकर उन्हें गिरफ्तार करे.

राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं ने ट्विटर पर अपनी प्रोफ़ाइल तस्वीरें ऐसे पोस्टरों से बदल दीं, जिसमें सवाल किया गया है कि कोविड के टीके विदेश क्यों भेजे गए. विपक्षी दल ने कहा कि अगर लोगों को टीके, दवाएं और ऑक्सीजन नहीं मिली तो प्रधानमंत्री से कड़े सवाल पूछे जाएंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज