लाइव टीवी

खुद को विशेषाधिकार प्राप्त सांसद समझते हैं राहुल गांधी, अलग तरह का व्यवहार चाहते हैं: अनुराग ठाकुर

भाषा
Updated: March 16, 2020, 8:00 PM IST
खुद को विशेषाधिकार प्राप्त सांसद समझते हैं राहुल गांधी, अलग तरह का व्यवहार चाहते हैं: अनुराग ठाकुर
20 लाख करोड़ के राहत पैकेज को लेकर अनुराग ठाकुर ने दिया ये का बड़ा बयान!

वित्त राज्य मंत्री ने कहा कि गांधी ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा था कि उन्होंने केंद्र सरकार से बैंकों का कर्ज वापस नहीं करने वाले 500 सबसे बड़े डिफॉल्टर्स के नाम पूछे थे, लेकिन लोकसभा में उनके प्रश्न में 50 सबसे बड़े डिफॉल्टर्स के नाम पूछे गये.

  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) को आड़े हाथ लेते हुए वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने कहा कि कांग्रेस नेता खुद को ‘‘विशेषाधिकार प्राप्त सांसद’’ मानते हैं और अन्य लोकसभा सदस्यों की तुलना में अलग व्यवहार चाहते हैं.

राहुल गांधी ने दावा किया था कि सांसद के नाते उन्हें लोकसभा में पूरक प्रश्न पूछने के उनके अधिकार का उपयोग नहीं करने दिया गया तथा लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Loksabha Speaker Om Birla) ने उन्हें दूसरा पूरक प्रश्न पूछने की अनुमति नहीं दी.

गांधी ने कहा कि वह इससे आहत हुए क्योंकि उनके बोलने तथा दूसरा पूरक प्रश्न पूछने के अधिकार के संरक्षण की जिम्मेदारी लोकसभा अध्यक्ष की थी.



अनुराग ठाकुर ने उठाए सवाल



वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कुछ लोग खुद को विशेषाधिकार प्राप्त समझते हैं. वे अन्य सांसदों की तुलना में अलग व्यवहार चाहते हैं. वे प्रश्नकाल समाप्त होने के बाद भी प्रश्न पूछना चाहते हैं. उनके प्रश्नों का लिखित उत्तर दे दिया गया था लेकिन फिर भी राहुल गांधी और अन्य कांग्रेस सदस्यों ने शोर-शराबा किया क्योंकि शुरू से ही उनकी यही मंशा थी.’’

वित्त राज्य मंत्री ने कहा कि गांधी ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा था कि उन्होंने केंद्र सरकार से बैंकों का कर्ज वापस नहीं करने वाले 500 सबसे बड़े डिफॉल्टर्स के नाम पूछे थे, लेकिन लोकसभा में उनके प्रश्न में 50 सबसे बड़े डिफॉल्टर्स के नाम पूछे गये.

ठाकुर ने कहा कि गांधी चाहते थे कि उनके प्रश्नों का उत्तर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण दें जबकि प्रश्नकाल में वही वित्त मंत्रालय से संबंधित पूरक प्रश्नों का उत्तर देते हैं.

कांग्रेस ने उठाए सरकार पर सवाल
वहीं कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि जानबूझकर कर्ज की अदायगी नहीं करने वाले डिफॉल्टर्स के बारे में उसके नेता राहुल गांधी के सवालों का स्पष्ट जवाब नहीं देकर सरकार ने संसद और संसदीय प्रक्रिया की अवमानना की है.

पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यह दावा भी किया कि केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार आने के बाद जानबूझकर कर्ज अदायगी नहीं करने में 60 फीसदी की बढ़ोतरी हुई.

उन्होंने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘राहुल गांधी ने जो सवाल पूछे थे वो पूरी तरह तरह स्पष्ट हैं. फिर भी सरकार ने किसी सवाल का स्पष्ट जवाब नहीं दिया. सदन में राज्य मंत्री ने जवाब दिया.’’ सिंघवी ने आरोप लगाया कि सरकार की तरफ से संसद और संसदीय प्रक्रिया की अवमानना की गई है.

उन्होंने यह दावा भी किया कि डिफॉल्टर्स के संदर्भ में तथ्यों को छिपाने का प्रयास कर रही है.

ये भी पढ़ें-
आंकड़ों में फंसे राहुल गांधी, संसद में 50 तो बाहर पूछे 500 डिफॉल्टर्स के नाम

कैप्टन अमरिंदर बोले- अभी तो मैं जवान हूं, जरूर लड़ूंगा अगला विधानसभा चुनाव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 16, 2020, 8:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading