केरल चुनाव 2021: वायनाड में बच्चों संग राहुल ने किया ईस्टर लंच, प्रियंका से कराई फोन पर बात

केरल के वायनाड में बच्चों के साथ लंच करते राहुल गांधी. (ANI/4 April 2021)

केरल के वायनाड में बच्चों के साथ लंच करते राहुल गांधी. (ANI/4 April 2021)

Kerala Assembly Elections 2021: केरल की सभी 140 विधानसभा सीटों पर आगामी 6 अप्रैल को चुनाव होना है, जिनके नतीजे 2 मई को आएंगे.

  • Share this:
वायनाड (केरल). कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को ईस्टर के मौके पर केरल में वायनाड के कलपेट्टा इलाके में स्थित जीवन ज्योति अनाथालय में बच्चों संग लंच किया. इस दौरान राहुल गांधी के फोन के जरिए कुछ बच्चों ने प्रियंका गांधी से भी बात की. राहुल इन दिनों विधानसभा चुनाव के मद्देनजन केरल के दौरे पर हैं.

इससे पहले शुक्रवार को केरल के कोइलांडी में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का नारा दिए जाने पर उनकी आलोचना करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि मोदी को केवल कांग्रेस से ही समस्या है, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी से नहीं. वायनाड से सांसद गांधी ने कहा, “प्रधानमंत्री जहां भी जाते हैं, कांग्रेस मुक्त भारत कहते हैं. जब वह सुबह उठते हैं तब कांग्रेस मुक्त भारत कहते हैं और जब वह सोने जाते हैं तब कांग्रेस मुक्त भारत कहते हैं. प्रधानमंत्री कभी माकपा मुक्त भारत क्यों नहीं कहते?” गांधी ने कहा, “उन्हें वामदलों से कोई समस्या नहीं है, लेकिन कांग्रेस से है.”

उन्होंने कहा कि कांग्रेस जहां लोगों को जोड़ने का काम करती रही वहीं, वामदल लोगों में विभाजन पैदा करते रहे. गांधी ने कहा कि हम (कांग्रेस) जहां भी जाते हैं, सबको जोड़ने का काम करते हैं. उन्होंने कहा, “हम जोड़ने वाली ताकत हैं. हम जहां भी जाते हैं, लोगों की पहचान करते हैं और उन्हें एक करते हैं और शक्तिशाली बनाते हैं.” आरएसएस को आड़े हाथों लेते हुए गांधी ने कहा कि संघ यह समझता है कि जो लोग सबको जोड़ते हैं उनसे उसे सबसे बड़ा खतरा है. गांधी ने कहा, “और वे बहुत अच्छी तरह समझते हैं कि उनकी तरह वामदल भी समाज को बांटने का काम करता है.” उन्होंने कहा, “वामपंथ भी आक्रोश और हिंसा की विचारधारा है. कांग्रेस ने कभी घृणा नहीं फैलाई और केवल सबको एक किया.”


उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार का विभाजन देश और राज्य को कमजोर करेगा. गांधी ने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा सभी भारतीयों को समान रूप से लाभ पहुंचाने की है और देश तभी प्रगति करेगा जब वह एक रहेगा. यहां की सभी 140 विधानसभा सीटों पर आगामी 6 अप्रैल को चुनाव होना है, जिनके नतीजे 2 मई को आएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज