Parliament: राहुल गांधी ने मृतक किसानों के लिए रखा 2 मिनट का मौन, सदन में होता रहा शोर

मृतक किसानों की याद में राहुल गांधी ने सदन में 2 मिनट का मौन रखा.

मृतक किसानों की याद में राहुल गांधी ने सदन में 2 मिनट का मौन रखा.

Parliament: राहुल गांधी ने आज सदन में मृतक किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए 2 मिनट का मौन रखा. उनके साथ विपक्षी दल के सांसद भी मौन खड़े रहे, फिर भी सदन में शोर होता रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 7:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने आज किसानों के मुद्दे पर केंद्र सरकार को घेरा. उन्होंने लोकसभा में अपने भाषण के दौरान कृषि कानूनों (Farm laws) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के लिए सदन में दो मिनट का मौन रखा लेकिन इस दौरान शोर होता रहा. राहुल के साथ विपक्षी सांसदों ने मौन रखा. स्पीकर ओम बिरला भी बीच-बीच में सत्ता पक्ष के सांसदों को शांत रहने को कहते रहे. राहुल गांधी ने बजट पर कुछ नहीं बोला. उन्होंने कहा कि विपक्ष ने किसान आंदोलन पर चर्चा की मांग की थी. सरकार ने यह मांग नहीं मानी. सरकार ने कहा कि सिर्फ बजट और राष्ट्रपति अभिभाषण पर चर्चा होगी. इसलिए मैं सरकार के फैसले का विरोध करते हुए बजट पर कुछ नहीं बोलूंगा.

राहुल ने 10 मिनट के अपने भाषण में पूरे समय किसान और मजदूरों को लेकर बोले. इस दौरान मंत्री लगातार उन्हें बजट पर बोलने के लिए कह रहे थे. राहुल ने कहा कि वह बजट पर बोलेंगे और उससे पहले आधार तैयार कर रहे हैं. लेकिन इसके बाद वह लगातार किसान आंदोलन, कोरोना के दौरान मजदूरों के हालात पर बोले.

ये भी पढ़ें: अहंकार और जिद छोड़कर तीनों कृषि कानूनों को रद्द करें, सचिन पायलट ने केंद्र से कहा

ये भी पढ़ें: Farmers Protest: गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे पंजाबी सिंगर बब्बू मान, 'मितरा दी छतरी' पर झूमे किसान
राहुल गांधी ने कहा, 'कल प्रधानमंत्री जी ने अपने भाषण में विपक्ष की बात की थी. उन्‍होंने कहा था कि विपक्ष आंदोलन की बात कर रहा है, मगर कृषि कानून के कंटेंट और इंटेंट के बारे में विपक्ष नहीं बोल रहा है. तो मैंने सोचा आज प्रधानमंत्री जी को खुश करें. और तीन कृषि कानून के कंटेंट और इंटेंट की बात करें.' हालांकि इस दौरान सत्‍ता पक्ष के सांसद हंगामा करते रहे कि आप बजट पर बोलें. इसपर राहुल गांधी ने कहा, 'किसान का मुद्दा भी बजट का मुद्दा है, आप उनका सम्‍मान करें.'

Youtube Video


इसके बाद राहुल गांधी ने कहा कि पहले कृषि कानून का कंटेंट है कि कोई भी व्‍यक्ति देश में कहीं भी कितना भी अनाज, सब्‍जी, फल खरीद सकता है. जितना भी खरीदना चाहता है खरीद सकता है. उन्‍होंने कहा कि अगर देश में अनलिमिटेंड खरीदी होगी तो मंडी में कौन जाएगा. उन्‍होंने कहा क‍ि पहले कानून का कंटेंट मंडी को खत्‍म करने का है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज