कानपुर एनकाउंटर पर राहुल गांधी का ट्वीट- जब पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी?

कानपुर एनकाउंटर पर राहुल गांधी का ट्वीट- जब पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी?
कानपुर पुलिस हत्याकांड पर राहुल गांधी का योगी सरकार पर उठाए सवाल (फाइल फोटो)

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gnadhi) ने ट्वीट किया, ‘उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में गुंडाराज का एक और प्रमाण. जब पुलिस (Police) सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी?’

  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर में अपराधियों के साथ मुठभेड़ (Encounter) में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम (Police) पर घात लगाकर अपराधियों ने हमला कर दिया. इस घटना में 7 अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं. इस वारदात पर राहुल गांधी (Rahul Gnadhi) ने योगी सरकार पर निशाना साधा है. राहुल गांधी ने इस घटना को राज्य में ‘गुंडाराज’ बताते हुए शुक्रवार को सवाल किया कि जब पुलिस सुरक्षित नहीं है तो जनता कैसे होगी?

राहुल गांधी (Rahul Gnadhi)  ने ट्वीट किया, ‘उत्तर प्रदेश में गुंडाराज का एक और प्रमाण. जब पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी?’ उन्होंने कहा, ‘मेरी शोक संवेदनाएं मारे गए वीर शहीदों के परिवारजनों के साथ है और मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’ वहीं, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस मामले को लेकर आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में अपराधी बेखौफ हो चुके हैं और आम लोग एवं पुलिस सुरक्षित नहीं हैं.
यूपी में बेहद बिगड़ चुकी कानून व्यवस्था- प्रियंकाकांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका ने ट्वीट किया, ‘ बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस पर बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी जिसमें उप्र पुलिस के एसओ सहित 8 जवान शहीद हो गए. इन शहीदों के परिजनों के साथ मेरी शोक संवेदनाएं.’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘यूपी में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं. आमजन व पुलिस तक सुरक्षित नहीं है.’ प्रियंका ने कहा, ‘कानून व्यवस्था का जिम्मा खुद मुख्यमंत्री के पास है. इतनी भयावह घटना के बाद उन्हें सख़्त कार्यवाही करनी चाहिए. कोई भी ढिलाई नहीं होनी चाहिए.’

एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मी शहीद



गौरतलब है कि गुरुवार रात पुलिस की एक टीम हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने चौबेपुर थाने के दिकरू गांव पहुंची थी. लेकिन विकास दुबे गैंग ने घात लगाकर पुलिस पर ही हमला कर दिया. इस मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए और आठ जवान घायल हो गए. दुबे के खिलाफ 60 आपराधिक मामले दर्ज हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading