राहुल गांधी ने कसा तंज- PM जी, अकेले टनल में हाथ हिलाना छोड़ो, अपनी चुप्पी तोड़ो

राहुल गांधी (तस्वीर- कांग्रेस)
राहुल गांधी (तस्वीर- कांग्रेस)

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर निशाना साधते हुए कहा कि वह अकेले टनल में हाथ हिलाना छोड़ कर लोगों के सवालों का सामना करें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 2:03 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने देश के अलग-अलग मुद्दों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से सवाल पूछे हैं. राहुल ने बुधवार को एक ट्वीट में कहा कि 'देश आपसे कुछ पूछ रहा है.' पंजाब स्थित पटियाला में हुई किसान रैली के बाद एक प्रेस वार्ता का वीडियो शेयर कर राहुल ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधा. 2.19 सेकेंड के वीडियो में राहुल गांधी के कई सवाल हैं जो उन्होंने पीएम से पूछे हैं. वायनाड सांसद ने कोरोना से लेकर चीन तक के मुद्दे पर प्रधानमंत्री से जवाब मांगा. उन्होंने लिखा- 'PM जी, अकेले टनल में हाथ हिलाना छोड़ो, अपनी चुप्पी तोड़ो. सवालों का सामना करो, देश आपसे बहुत कुछ पूछ रहा है.'

कोरोना के मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए राहुल ने कहा कि 'एक आदमी आपसे फरवरी में कह रहा है कि कोरोना से देश की इकॉनमी को जबर्दस्त चोट पहुंचेगी, दूसरा व्यक्ति कह रहा है कि 22 दिन में यह लड़ाई जीती जाएगी. समझ किसको यह आप तय करिए.'





जीएसटी से स्मॉल मीडियम बिजनेस बर्बाद हो गए- राहुल
राहुल ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से स्मॉल मीडियम बिजनेस बर्बाद हो गए और PM ने सिर्फ अपने 2-3 मित्रों की मदद की. किसान कानूनों का जिक्र करते हुए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमारी यह यात्रा तीन काले कानूनों के खिलाफ है. उन्होंने हाथरस मुद्दे पर प्रधानमंत्री की चुप्पी पर भी सवाल किया. भारत चीन के बीच जारी गतिरोध पर राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री जिम्मेदारी से बचते हैं.



इससे पहले राहुल ने कहा था कि , ‘पहले नोटबंदी की गई और जीएसटी लागू किया गया. इससे छोटे एवं मध्यम कारोबार नष्ट हो गए. सरकार ने कोई मदद नहीं की.’ गांधी ने कहा, ‘देश में खाद्य सुरक्षा की एक व्यवस्था है. अगर यह टूट गई तो सिर्फ किसानों को नहीं, बल्कि सभी लोगों को नुकसान होगा.’विपक्ष के कमजोर होने की धारणा से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘जब पूरे संस्थागत ढांचे को नियंत्रण में ले लिया गया है तो ऐसे में यह कहना उचित नहीं है कि विपक्ष कमजोर है.’ उन्होंने दावा किया कि देश की आत्मा पर जबरन कब्जा कर लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज