लाइव टीवी

मोदी सरकार ने गरीबों के लिए दिया राहत पैकेज, राहुल गांधी ने बताया पहला सही कदम

News18Hindi
Updated: March 26, 2020, 5:05 PM IST
मोदी सरकार ने गरीबों के लिए दिया राहत पैकेज, राहुल गांधी ने बताया पहला सही कदम
राहुल गांधी ने मोदी सरकार की ओर से राहत पैकेज घोषित करने के कदम की सराहना की.

गरीबों के लिए गुरुवार को वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने 1.70 लाख करोड़ रुपये की धनराशि के राहत पैकेज का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 5:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) के विकट दौर से गुजर रहे देश के गरीब वर्ग के लिए मोदी सरकार (Modi Government) ने गुरुवार को राहत पैकेज का ऐलान किया है. वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने 1.70 लाख करोड़ रुपये की धनराशि इसके लिए आवंटित की है. इसके बाद कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सरकार के इस कदम की सराहना करते हुए ट्वीट कर कहा कि सरकार की ओर से घोषित किया गया राहत पैकेज पहला सही कदम है.

राहुल गांधी ने ट्वीट में लिखा, 'मौजूदा लॉकडाउन (India Lockdown) के कारण किसान, दिहाड़ी मजदूर, श्रमिक, महिलाएं और बुजुर्ग बुरे दौर में हैं. भारत इनका कर्जदार है. ऐसे में यह राहत पैकेज इस दिशा में सरकार का पहला सही कदम है.'

The Govt announcement today of a financial assistance package, is the first step in the right direction. India owes a debt to its farmers, daily wage earners, labourers, women & the elderly who are bearing the brunt of the ongoing lockdown.#Corona






1.70 लाख करोड़ का राहत पैकेज
बता दें कि कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट से निपटने के लिए सरकार ने राहत पैकेज की घोषणा की है. वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने गरीबों, मजदूरों, कर्मचारियों के लिए 1.70 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान किया है. इसका नाम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज है. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत गरीबों को कैश ट्रांसफर किया जाएागा. इसके अलावा 3 महीनों तक एम्प्लॉई और एम्प्लॉयर दोनों के हिस्से का योगदान सरकार करेगी.

बीमा कवर भी मिलेगा
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश पैकेज के तहत कोरोना वायरस के संक्रमण में लोगों के इलाज में लगे डॉक्टरों, पैरामेडिकल कर्मियों, चिकित्सा सेवा कर्मियों को 50 लाख रुपये प्रति परिवार का बीमा कवर दिया जाएगा. इसके अलावा, राशन की दुकानों से 80 करोड़ परिवारों को अतिरिक्त 5 किलो गेहूं या चावल के साथ एक किलो दाल तीन महीने तक मुफ्त उपलब्ध कराई जाएगी तथा महिलाओं, विधवाओं और बुजुर्गों को वित्तीय सहायता दी जाएगी.

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन: इस शहर में लोगों को नहीं हो रही परेशानी, घर-घर इस तरह मिल रहा खाना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 4:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर