श्रीनगर से दिल्ली लौटे राहुल गांधी, बोले- कश्मीर में हालात ठीक नहीं, पत्रकारों को पीटा

News18Hindi
Updated: August 25, 2019, 5:04 AM IST
श्रीनगर से दिल्ली लौटे राहुल गांधी, बोले- कश्मीर में हालात ठीक नहीं, पत्रकारों को पीटा
श्रीनगर से लौटाए गए राहुल बोले- हालत ठीक नहीं, पत्रकारों को पीटा

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में कानून व्यवस्था की स्थिति सामान्य नहीं है. साथ ही उन्होंने पत्रकारों से बदसलूकी का भी आरोप लगाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2019, 5:04 AM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) के अधिकतर प्रावधानों को खत्म करने के बाद कश्मीर घाटी की स्थिति का जायजा लेने गए राहुल गांधी (Rahul Gandhi) समेत विपक्षी दलों के 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस दिल्ली भेज दिया गया. जिसके बाद राहुल गांधी ने कहा कि जम्मू कश्मीर में कानून व्यवस्था की स्थिति सामान्य नहीं है. साथ ही उन्होंने पत्रकारों से बदसलूकी का भी आरोप लगाया.

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने दावा किया कि उन्हें राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Governor Satya Pal Malik) ने राज्य का दौरा करने के लिए आमंत्रित किया था. राज्यपाल ने कहा था कि मैं आमंत्रित हूं. अब जब मैं कश्मीर गया तो वे कह रहे हैं कि आप नहीं आ सकते. सरकार कह रही है कि हर चीज सामान्य है. इसलिए अगर हर चीज सामान्य है तो हमें बाहर जाने की अनुमति क्यों नहीं दी गई. यह आश्चर्यजनक है.’

‘हम कश्मीर के लोगों से करना चाहते हैं बात’
दिल्ली लौटने के बाद राहुल ने कहा, ‘हम किसी भी ऐसे क्षेत्र में जाना चाहते हैं जहां शांति है और 10- 15 लोगों से बात करना चाहते हैं. अगर धारा 144 लागू है तो मैं अकेले जाना चाहता हूं, हमें समूह में नहीं जाना है.’ राहुल ने आगे कहा कि हम यह जानना चाहते थे कि लोग किस स्थिति में हैं और अगर उनकी मदद कर सकते हैं तो करेंगे, लेकिन दुर्भाग्य से हमें एयरपोर्ट से आगे नहीं जाने दिया गया.

'पत्रकारों के साथ की गई मारपीट'
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि हमारे साथ के पत्रकारों के साथ भी बुरा व्यवहार किया गया और पीटा गया. यह स्पष्ट है कि जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य नहीं हैं. बता दें कि शनिवार को कश्मीर गए इस प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी के साथ माकपा, भाकपा, द्रमुक, राकांपा, जद (एस), राजद, एलजेडी और टीएमसी के नेता भी थे.

कश्मीर प्रशासन ने दी सफाई
Loading...

जम्मू कश्मीर प्रशासन ने शुक्रवार रात को कहा था कि राजनीतिक नेताओं का दौरा घाटी के कई क्षेत्रों में लगायी गयी पाबंदियों का उल्लंघन होगा. विपक्षी दलों को घाटी नहीं जाने देने के प्रशासन के निर्णय के बारे में पूछे जाने पर जम्मू कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने संवाददाताओं से शनिवार शाम को कहा कि ऐसे समय में शांति तथा कानून व्यवस्था कायम रखना एक प्राथमिकता है जब सीमा पार आतंकवाद का खतरा कायम है. कंसल ने कहा कि उनसे घाटी का दौरा नहीं करने का अनुरोध किया गया था.



News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 5:04 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...