लाइव टीवी

राहुल गांधी का सरकार पर बड़ा हमला, कहा- पूर्वोत्तर का 'नस्लीय सफाये' का प्रयास है नागरिकता विधेयक

News18Hindi
Updated: December 11, 2019, 11:07 AM IST
राहुल गांधी का सरकार पर बड़ा हमला, कहा- पूर्वोत्तर का 'नस्लीय सफाये' का प्रयास है नागरिकता विधेयक
कांग्रेस CAB का लगातार विरोध कर रही है.

नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill 2019) में अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के गैर मुस्लिम शरणार्थी- हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 11:07 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 (Citizenship Amendment Bill 2019) के राज्यसभा (Rajya Sabha) में पेश होने से पहले केंद्र की मोदी सरकार पर पूर्वोत्तर (North east) के जनजीवन पर आपराधिक हमला करने का आरोप लगाया. राहुल ने मंगलवार को ट्वीट किया, 'नागरिकता संशोधन विधेयक पूर्वोत्तर, उनके जीवन के तौर-तरीके और भारत के विचार पर आपराधिक हमला है.'

राहुल ने कहा- 'नागरिकता संशोधन विधेयक मोदी-शाह सरकार की पूर्वोत्तर के जातीय सफाये की कोशिश है.' उन्होंने नागरिकता विधेयक के खिलाफ प्रदर्शनों पर कहा,  'मैं पूर्वोत्तर के लोगों के साथ खड़ा हूं और मैं उनकी सेवा में हाजिर हूं.'

इससे पहले मंगलवार को लोकसभा में पारित विवादास्पद नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ छात्र संघों और वाम-लोकतांत्रिक संगठनों ने मंगलवार को पूर्वोत्तर के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन किया. इस दौरान सड़क अवरुद्ध होने के कारण अस्पताल ले जाते समय दो महीने के एक बीमार बच्चे की मौत हो गई. राज्यसभा में इस विधेयक को पेश किये जाने से एक दिन पहले असम में इस विधेयक के खिलाफ दो छात्र संगठनों के राज्यव्यापी बंद के आह्वान के बाद ब्रह्मपुत्र घाटी में जनजीवन ठप रहा.

ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (आसू), नॉर्थ ईस्ट स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन, वामपंथी संगठनों-एसएफआई, डीवाईएफआई, एडवा, एआईएसएफ और आइसा ने अलग से एक बंद आहूत किया. गुवाहाटी के विभिन्न क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर जुलूस निकाले गये और प्रदर्शनकारियों ने इस विधेयक के खिलाफ नारेबाजी की.

कांग्रेस, राहुल गांधी, कैब, एनआरसी, कैब 2019, कैब बिल, लोक सभा, राज्य सभा,congress, Rahul Gandhi,cab,nrc,cab2019, cab bill,lok sabha, rajya sabha,
राहुल गांधी का ट्वीट


असम में प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और मुख्यमंत्री के पुतले जलाए
प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के पुतले भी जलाये. पुलिस सूत्रों ने बताया कि सचिवालय और विधानसभा की इमारतों के बाहर गुवाहाटी में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प भी हुई क्योंकि पुलिस प्रदर्शनकारियों को आगे बढ़ने से रोक रही थी.डिब्रूगढ़ जिले में बंद समर्थकों की झड़प सीआईएसएफ कर्मियों के साथ हुई. इनमें से तीन घायल हो गए क्योंकि ये ऑयल इंडिया लिमिटेड (ओआईएल) के कर्मचारियों को कार्यालय में जाने से रोक रहे थे. सोनोवाल और राज्य के अन्य मंत्रियों के काफिलों का मार्ग मोड़ दिया गया क्योंकि प्रदर्शनकारियों ने मुख्य मार्गों को अवरुद्ध कर दिया था.

रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि पूरे असम में ट्रेन सेवा प्रभावित रही, क्योंकि रेलवे की पटरियों पर अवरोधक लगाए गए थे. बंद को देखते हुए सभी पहले से तय परीक्षाओं की समय-सारणी बदल दी गई है. (भाषा इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें: नागरिकता संशोधन बिल आज दोपहर 2 बजे राज्यसभा में होगा पेश, शिवसेना के साथ के बिना भी बीजेपी बेफिक्र, जानें सारा गणित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 10:40 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर