Assembly Banner 2021

OPINION: राहुल गांधी के बयान पर कांग्रेस का द्वंद भी सामने आया

बीजेपी से सामना करने में जुटी कांग्रेस राहुल गांधी के बयान के बाद आपस में ही उलझ गई है. फाइल फोटो

बीजेपी से सामना करने में जुटी कांग्रेस राहुल गांधी के बयान के बाद आपस में ही उलझ गई है. फाइल फोटो

Row over Rahul Gandhi statement: आनंद शर्मा के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल सामने आए और कहा कि मतदाता जहां भी होगा, वो समझदार होगा, उसे सम्मान देना चाहिए. मतदाता सुप्रीम होता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 9:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दक्षिण बनाम उत्तर के बयान को लेकर कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) अपने विरोधियों के निशाने पर तो हैं हीं, लेकिन इशारों में उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेता भी तंज कस रहे हैं. यही नहीं, इस बयान के बाद कांग्रेस के भीतर का द्वंद भी साफ निकल कर बाहर आ गया है. युवा कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास (Srinivas BV) ने अपनी पार्टी के ही वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) पर ही निशाना साध दिया.

केंद्र सरकार और बीजेपी पर निशाना साधने में संघर्षरत राहुल गांधी ने एक बार फिर अपनी पार्टी को मुश्किल में डाल दिया है. उत्तर भारत और दक्षिण भारत के मतदाताओं की सोच का फर्क बताते हुए राहुल गांधी ने ऐसा बयान दे दिया, जिसकी चोट बीजेपी को लगने की जगह कांग्रेस और राहुल गांधी को ही लग गई. बीजेपी तो उन पर हमलावर हुई ही, कांग्रेस के भीतर से भी ऐसी आवाज आई जो ये बताती है कि राहुल गांधी के बयान से वो असहज हैं.

पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा सामने आए. शर्मा ने कहा कि राहुल गांधी जी ने अपने किसी अनुभव के आधार पर टिप्पणी की है. कोई किसी क्षेत्र के अपमान की बात इसमें नहीं दिखती. दलगत राजनीति से इस पर विवाद नही बनना चाहिए. राहुल गांधी जी खुद स्पष्टीकरण दे सकते हैं कि किस परिप्रेक्ष्य में ये टिप्पणी की.



शर्मा के बाद पार्टी के दूसरे बड़े नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल सामने आए. उन्होंने कहा कि मतदाता जहां भी होगा, वो समझदार होगा, उसे किसको वोट देना है? मतदाता को सब समझ है चाहे वो नॉर्थ का हो या साऊथ का हो. व्यक्तिगत रूप से मैं कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता, लेकिन मतदाता को सम्मान देना चाहिए. मतदाता सुप्रीम होता है, उनके बिना इलेक्शन जीत नहीं सकते. जाहिर है कि सिब्बल के इस बयान में उनकी पीड़ा भी नजर आती है. हालांकि उन्होंने बीजेपी पर बाँटने का भी आरोप लगाया.
सिब्बल के इस बयान पर उनकी ही पार्टी के यूथ विंग के अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास भड़क गए. उन्होंने सोशल मीडिया साइट ट्वीटर पर सिब्बल को नसीहत देते हुए लिखा, "पूरे सम्मान के साथ, साइडलाइन पर बैठे हुए पार्टी को प्रवचन देना बंद करें. कांग्रेस पार्टी को 27 घंटे सातों दिन जमीन पर रहने वाले नेता चाहिए, ना कि 24 घंटे सातों दिन प्रवचन देने वाले.

जाहिर है कि कांग्रेस के लिए भी पूरी तरह से राहुल गांधी के बयान का समर्थन करना मुश्किल हो रहा है. यही नहीं बीजेपी से सामना करने में जुटी कांग्रेस राहुल गांधी के बयान के बाद आपस में ही उलझ गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज